• Download Dailyhunt App

Sign UP / Sign In



 

Category

Home > Hindi > Bombey Meri Jaan

Bombey Meri Jaan ( बॉम्बे मेरी जान )

Author: जयंती रंगनाथन

Hindi

350 ( 30% off)
245

  • My Rating


  • Review Title


  • Review Comment



To read this book you need to Download the Dailyhunt App on your phone. Available in Android, Windows & Iphone

हर मुम्बईकर का इस मायानगरी से अपनी तरह का अलग रिश्ता बनता है। मैंने अपने ही परिवार के ऐसे भी कुछ लोग देखे हैं जो पिछले पाँच दशक से इस शहर में रहते हुए भी इस शहर को जीने के बजाय, रोते हैं। मुम्बई एक शहर भर नहीं है। ज़िंदगी जीने और अपने आपको समझने का एक गेटवे भी है। यह शहर कब आपके अन्दर बसने लगता है और कब आपकी रगों में यह उल्लास और गति बनकर दौड़ने लगता है आपको पता ही नहीं चलता। पहली बार वड़ा पाव का स्वाद आपको अजीब-सा लग सकता है। सड़क किनारे पाव-भाजी के खोमचों पर भारी भीड़ देख आप चैंक सकते हैं। लेकिन बहुत जल्द आप भी उस भीड़ का हिस्सा बनने लगते हैं। बड़े-से तवे पर कलछुल की झनाझन मार...लहसुन की चटनी की तीखी गन्ध आपकी रोजश्मर्रा की जिश्न्दगी का हिस्सा बन जाते हैं।एक बार जब आप इस मायानगरी के रंग में रंग जाते हैं, तो रात-दिन की भाग-दौड़, आसपास की भीड़ में भी अपनेपन का अहसास होने लगता है। हर दिन दफ्तर आते-जाते मुम्बई की लोकल टेªन में आपको नये किरदार देखने-बुनने को मिलते हैं। ना जाने कितनी कहानियाँ हर वक़्त आपके आसपास तैरती रहती हैं। मुम्बई को अगर जानना है, तो खुद एक कहानी बनना होगा।पन्द्रह साल मुम्बई में रहने के बाद जब मैं दिल्ली आयी, तो सालांे तक वहाँ की तेजी, रवानगी, प्रोफेशनलिज़्म और हल्ला-गुल्ला मिस करती रही। आज भी करती हूँ। मेरे सपने में आज भी मुम्बई जागता है, मुझे बुलाता है। आज भी दिल के अन्दर कहीं ना कहीं एक मासूम सी ख़्वाहिश है...एक दिन...

  • Release Date:
  • Book Size: 348 KB
  • Language: Hindi
  • Category: Jeevan Charitra, Anusmaran

    Be the first to rate




Top

If you want to read ebooks please download our app in your favorite mobile