• Download Dailyhunt App

Sign UP / Sign In



 

Category

Home > Hindi > Dhyan Niyam - Dhyan Yoga Ninety

Dhyan Niyam - Dhyan Yoga Ninety ( ध्यान नियम - ध्यान योग नाइन्टी )

Author: सरश्री

Hindi

125 ( 40% off)
75

  • My Rating


  • Review Title


  • Review Comment



To read this book you need to Download the Dailyhunt App on your phone. Available in Android, Windows & Iphone

"आधुनिक समाज में प्रत्येक चीज का विकास और विस्तार हो रहा है। यहॉं तक कि मानव के जीवनस्तर में भी काफी परिवर्तन हुए हैं। किंतु एक ऐसा अभ्यास जो प्राचीनकाल से अब तक अपनी जगह बराबर बनाए हुए है, वह है ध्यान। ध्यान शब्द का उच्चारण करते ही हमें साधु-संन्यासियों का खयाल आ जाता है लेकिन वास्तव में, ध्यान जैसा महान अभ्यास केवल इन महात्माओं तक ही सीमित नहीं हैं बल्कि यह तो वह दौलत है, जिसे प्रत्येक इंसान जन्मतः पृथ्वी पर लेकर आता है। लेकिन जैसे-जैसे वह बड़ा होता जाता है वैसे-वैसे उससे यह दौलत दूर होती चली जाती है।आज के समय में ध्यान की इसी आवश्यकता का वर्णन पुस्तक ""ध्यान दीक्षा' में किया गया है। ध्यान साप्ताहिकी में सोमवार से लेकर रविवार तक के लिए अलग-अलग ध्यान पद्धति दी गई है। अपनी आध्यात्मिक उन्नति करने के लिए ध्यान करें, आध्यात्मिकता का दिखावा करने के लिए नहीं। ध्यान अहंकार विलीन करने के लिए है, उसे बढ़ाने के लिए नहीं। ध्यान, ध्यानी का अंत है जन्मदाता नहीं। ध्यान के अंत में ध्यानी और ध्यान का दृश्य विलीन हो जाता है और बचता है केवल दर्शन। पुस्तक में दी गई ध्यान विधियॉं ""मैं' का यानी अहंकार का विसर्जन करने की तरफ ही इशारा करती हैं। अहंकार का विसर्जन होने के बाद ही स्वअनुभव प्रकट होता है।ध्यान एक ऐसी शक्ति है, जिससे जीवन को सही दिशा मिलती है। यदि आप भी अपने जीवन को अधिक बेहतर और सुखमय बनाना चाहते हैं तो आपको ध्यान का अभ्यास करना होगा। ध्यान का अभ्यास कैसे किया जाए? यह जानिए पुस्तक ""ध्यान दीक्षा' के माध्यम से।"...

  • Release Date:
  • Book Size: 1 MB
  • Language: Hindi
  • Category: Dharmik, Adhyatma Vishayak

  • 2017-03-12 22:55:55.0

    Chauhan Rohit


    Good

    Nice

  • 2017-03-08 19:31:33.0

    Ravi Kumar


  • 2016-12-15 15:14:32.0

    Sadhu Ram Dahiya


  • 2016-11-08 14:37:47.0

    Hemant Kumar


  • 2016-11-03 22:22:48.0

    Anand kumbhkar


    Nice book.. .

  • 2016-11-01 13:55:34.0

    Sapna Rodekar


  • 2016-10-23 07:34:43.0

    Pradeep chauhan


  • 2016-09-25 22:52:20.0

    Smbu Ram


    आरएमडीसीएवअपिलअनुशास

  • 2016-09-25 20:06:23.0

    Ajay Pal


    Good

    Good

  • 2016-08-25 18:14:13.0

    jitesh kohli


  • 2016-06-23 16:42:18.0

    G V V L N RAO


  • 2016-05-14 00:22:44.0

    Rahul Srivastava


  • 2016-03-14 13:13:07.0

    razzal ghaniwala


  • 2016-02-27 08:46:38.0

    Gyanendra Singh


  • 2016-02-19 22:42:08.0

    Dipak Kathiriya


  • 2016-02-02 20:55:10.0

    Khande sidhdeshvar


  • 2015-12-31 23:03:14.0

    Rammilan Yadav


    Dyanyog

    Dyanyog Bid Rammilanyadav

  • 2015-12-28 08:56:06.0

    Navin Kumar Sharma


  • 2015-10-29 20:28:54.0

    Ekansh Gupta


  • 2015-10-27 15:51:53.0

    Narender Sain


  • 2015-10-13 19:16:39.0

    Haresh Patel


    Good learning book

  • 2015-08-10 09:11:02.0

    Chandra Dev Ray


    v good

  • 2015-07-30 15:02:55.0

    saroj Kumari


  • 2015-07-24 20:43:51.0

    Hasan Khan


  • 2015-05-29 07:24:52.0

    abid


    Good book

    I like this book. I suggest that sir Sri's other books launched in newshunt. Thank you.

  • 2015-04-24 17:03:35.0

    Dipali Dange


    Very nice and easy to understand book

  • 2015-04-11 04:58:42.0

    kalpesh


    thenks

    nice





Top

If you want to read ebooks please download our app in your favorite mobile