• Download Dailyhunt App

Sign UP / Sign In



 

Category


Nazar Dosh ( नज़र दोष )

Author: उपेन्द्र धाकरे

Hindi

195 ( 30% off)
137

  • My Rating


  • Review Title


  • Review Comment



To read this book you need to Download the Dailyhunt App on your phone. Available in Android, Windows & Iphone

नज़रदोष एक ऐसी समस्या है जिससे लगभग सभी व्यक्ति किसी न किसी रूप में प्रभावित होते हैं। संक्षिप्त रूप में नज़रदोष को समझना हो तो हम कह सकते हैं कि नज़रदोष के कारण हमें प्राप्त होने वाले सुख बाधित होते हैं। नज़रदोष का उपचार किसी चिकित्सक के पास नहीं होता, लेकिन इसके परिणामों से पीड़ा अवश्य भोगनी पड़ती है। उदाहरण के लिये हंसते-खेलते बच्चे को नज़र लगे तो वह अनमना एवं चिड़चिड़ा हो जाता है, अच्छे चलते हुए व्यवसाय को नज़र लगने पर हानि होने लगती है, नज़रदोष के कारण ही दाम्पत्य सम्बन्धों में तनाव उत्पन्न होता है, विवाह सम्बन्धों में अनेक प्रकार की रुकावटें आने लगती हैं। इस प्रकार समग्री दृष्टि से देखा जाये तो जीवन के जिन-जिन पक्षों से आपको सुखों की प्राप्ति हो सकती है, नज़रदोष के प्रभाव से वहाँ से सुखों के बदले दु:ख प्राप्त होने लगते हैं। नज़रदोष : पीड़ा मुक्ति के दुर्लभ उपाय पुस्तक में नज़रदोष से उत्पन्न होने वाली समस्याओं के बारे में बताया गया है। इसमें विस्तार से यह भी बताया गया है कि नज़र कैसे और क्यों लग सकती हैं, इसके क्या कारण हो सकते हैं, इनका हमारे ऊपर क्या प्रभाव पड़ सकता है तथा ऐसे विलक्षण उपायों को भी बताया गया है जिनका प्रयोग करने से नज़रदोष से उत्पन्न पीड़ा के प्रभाव को समाप्त किया जा सकता है। यह एक ऐसी विलक्षण पुस्तक है, जो आपको अवश्य ही पढ़नी चाहिये। यहाँ आपको यह भी स्पष्ट किया जाता है कि वर्तमान में जब व्यक्ति पाश्चात्य संस्कृति के प्रभाव में डूबता जा रहा है, इसके उपरान्त भी नज़रदोष को अनदेखा नहीं किया जा सकता। आप यह पुस्तक एक बार अवश्य पढें। इस पुस्तक के लेखक शनिसाधक उपेन्द्र धाकरे हैं।

  • Release Date:
  • Book Size: 914 KB
  • Language: Hindi
  • Category: Astrology

  • 2017-02-13 17:33:51.0

    Online


    ✅JOB✅JOB✅ आइऐ Digital India से जुड़िए बिना पैसे लगाऐ पैसे कमाऐ ₹10000से ₹15000 हजार जानने के लिए JOB लिखकर 9410166705 पर Whatsapp करे

  • 2017-02-02 17:49:54.0

    sejal pandey


  • 2016-05-22 13:33:33.0

    shiv peatap


    Best





Top

If you want to read ebooks please download our app in your favorite mobile