• Download Dailyhunt App

Sign UP / Sign In



 

Category

Home > Hindi > Vishnu Sukta

Vishnu Sukta ( विष्पु सूक्त )

Author: गुलाब कोठारी

Hindi

150 ( 50% off)
75

  • My Rating


  • Review Title


  • Review Comment



To read this book you need to Download the Dailyhunt App on your phone. Available in Android, Windows & Iphone

विश्व पञ्चपर्वा है-- ऐसा श्वेताश्वतरोपनिषद् में कहा गया है। इन पांच पर्वो में स्वयंभू प्राणमय है, परमेष्ठी आपोमय है, सूर्य वाङ्मय है, पृथ्वी अन्नाद है तथा चन्द्रमा अन्नमय है। इनमें से पिण्ड से केन्द्र में रहकर पिण्ड का नियमनकरने वाला तत्त्व अन्तर्यामी कहलाता है। यहहृदय भी कहलाता है क्योंकिइसकी तीन कलाएं हैं जो 'हृ', 'द' तथा 'यम्' द्वारा सूचित होती हैं। 'हृआहरण को बताता है। जो विष्णु है, 'द विसर्गको बताता है जो इन्द्र है तथा‘यम् नियमन को बताता है जो ब्रह्मा है। इनमें ब्रह्मा और विष्णु के मेल से सोम का तथा ब्रह्मा और इन्द्र के मेल से अग्नि का निर्माण होता है।

  • Release Date:
  • Book Size: 510 KB
  • Language: Hindi
  • Category: Dharmik, Adhyatma Vishayak

  • 2017-04-19 07:58:29.0

    Mazhar Ansari


  • 2016-03-23 17:02:08.0

    Utkarsh Mahajan


    Very nice book





Top

If you want to read ebooks please download our app in your favorite mobile