• Download Dailyhunt App

Sign UP / Sign In



 

Category


Arjun ( अर्जुन )

Author: वसुंधरा

Hindi

38

  • My Rating


  • Review Title


  • Review Comment



To read this book you need to Download the Dailyhunt App on your phone. Available in Android, Windows & Iphone

अर्जुन द्वापर युग के उस महान योद्धा का नाम है जो महाभारत का नायक रहा है। अर्जुन भगवान श्रीकृष्ण के मित्रा, पांडु और कुन्ती के पुत्र और गुरू द्रोणाचार्य के प्रमुख शिष्य थे। जीवन में अनेक अवसर पर उन्होंने अपनी वीरता का परिचय दिया है। द्रौपदी स्वयंवर अर्जन के कुशल धनुर्धर होने का उदाहरण है। अर्जन ने गुरू द्रोणाचार्य के साथ-साथ परशुराम से भी शास्त्रास्त्र विद्या सीखी थी। हिमालय में तपस्या करते समय किरात वेशधारी शिव से इनका युद्ध हुआ था। शिव से इन्हें पाशुपत अस्त्र और अग्नि से आग्नेयास्त्र, गांडीव धनुष तथा अक्षय तुणीर प्राप्त हुआ। वरुण ने इनको नंदिघोष नामक विशाल रथ प्रदान किया। द्रोणाचार्य एक बार शिष्यों के साथ गंगा नहाने गये। ज्यों ही वे जल में उतरे त्यों ही मगर ने उनकी टाँग पकड़ ली। द्रोणाचार्य ने अपने छात्रों की जाँच करने के लिए आवाज लगाई कि, ”तुम लोग मुझे इस मगर से बचाओ।“ अन्य छात्र तो घबराहट के मारे एक-दूसरे की ओर ताकते रह गये, किंतु अर्जुन ने पानी के भीतर डूबे हुए मगर को पाँच बाण मारकर मार डाला और आचार्य की टाँग पर आँच तक न आने दी। इससे स्रन्न हुए आचार्य ने अर्जुन को प्रयोग और उपसंहार सहित ब्रह्मशिर अस्त्र सिखला दिया। प्रस्तुत पुस्तक में अर्जुन के सम्पूर्ण जीवन चरित्र को उजागर किया गया है। पुस्तक की भाषा सरल व सुबोध रखी गई है।पुस्तक के लेखन में कुछ लिखित व अलिखित स्रोतों से मदद ली गई है जिनके लेखकों व प्रकाशकों के प्रति मैं विनम्र आभार प्रकट करती हूँ। आशा है पुस्तक पाठकों के लिए उपयोगी होगी।

  • Release Date:
  • Book Size: 2 MB
  • Language: Hindi
  • Category: Jeevan Charitra, Anusmaran

    Be the first to rate




Top

If you want to read ebooks please download our app in your favorite mobile