• Download Dailyhunt App

Sign UP / Sign In



 

Category

Home > Hindi > Avantika: Ek Ansuljhi Paheli

Avantika: Ek Ansuljhi Paheli ( अवंतिका: एक अनसुलझी पहेली )

Author: चन्द्र प्रकाश पाण्डेय

Hindi

100 ( 75% off)
25

  • My Rating


  • Review Title


  • Review Comment



To read this book you need to Download the Dailyhunt App on your phone. Available in Android, Windows & Iphone

पांच हजार साल पहले, एक खौफनाक राज़ को किसी भी प्राणी व्दारा न समझी जा सकने वाली भाषा में लिपिबध्द करके, आने वाले भविष्य के लिये समय के सीने में दफन कर दिया गया था | किन्तु किसी जलजले से भी भयावह उस राज़ के साथ ही एक रहस्यमयी समुदाय का भी गठन हुआ था, जो आश्चर्यजनक रुप से पांच हजार सालों से अपने अस्तित्व की रक्षा करते हुए, वर्तमान की दहलीज पर खड़े होकर नक्षत्रों के उस संयोग की प्रतीक्षा कर रहा था, जिसे ईश्वर के उपासकों ने एक महान घटना हेतु चुना था | एक ऐसी घटना जिसके तहत हजारों साल पुरानी उस पाण्डुलिपि की अनसुलझी पहेलियां सुलझने वाली थीं |

  • Release Date:
  • Book Size: 451 KB
  • Language: Hindi
  • Category: Rahasya Aur Romanch

  • 2017-10-29 18:54:43.0

    Khn K


  • 2017-10-25 00:03:41.0

    manish


    अद्भुत

    पाठक को बांध कर रखने और एक बार मे ही पूरा उपन्यास पढ़ जाने को मजबूर करने की अद्भुत क्षमता है सर् जी आपकी लेखनी में अगले भाग की प्रतीक्षा में.....

  • 2017-10-19 11:05:29.0

    Satveer Singh


  • 2017-10-15 22:07:10.0

    Ashutosh Dwivedi


    बहुत अच्छा

    आप को थोडा़ और प्रयास करने की जरूरत है..हालाँकि कहानी बहुत अच्छी है पर बहुत ज्यादा लंबा खीचां है आपने इसे...और दूसरा बात की सब कुछ गड्डमगड्ड कर दिया है... आपकी पिछली रचनाएँ गुमनाम है कोई और उसके आगे वाले पार्ट में भी आपने ऐसे ही कहानी को लंबा खीचा था और उसका अन्त उतना मजेदार नही रहा जैसा हमने सोचा था और इन किताबों मे भी 2पार्ट तक आपने केवल कहानी को बेवजह खींचा है ...अब देखते हैं अन्तिम पार्ट पहले जैसा रहेगा या कुछ नया पढ़ने को मिलेगा, वैसे कहानी अच्छी है |

  • 2017-10-11 23:51:06.0

    Harish Mohan


  • 2017-10-09 12:07:39.0

    indramani shukla


  • 2017-10-07 10:05:35.0

    izhar


    समीक्षा

    कहानी मे कसावट और लेखनी मे पैनापन की आवश्यकता । बेवजह लंबा खींचा है लेखक ने।

  • 2017-10-04 13:51:01.0

    Raju Ranjan Kumar


  • 2017-10-04 08:49:11.0

    wahid


  • 2017-10-02 15:42:38.0

    sarika


    Nice

    Upload 3rd part of this book

  • 2017-10-01 16:27:04.0

    Kripa Sagar Verma


  • 2017-10-01 10:14:04.0

    Prashant P


    ™job®™

    ✅JOB✅JOB✅  Digital India        10000 15000     JOB  9⃣4⃣1⃣0⃣1⃣6⃣6⃣7⃣0⃣5⃣  Whatsapp 

  • 2017-09-30 23:10:06.0

    Sanket Dhumale


  • 2017-09-29 23:08:40.0

    deepak kumar pal


  • 2017-09-23 22:03:49.0

    Avadhesh Kumar


    बहुत अच्छा।

  • 2017-09-11 23:27:17.0

    Anil Khemka


    Wah

  • 2017-09-06 23:39:45.0

    BABITA PANDEY


  • 2017-08-31 00:23:41.0

    Nishita Jha


    Good

  • 2017-08-30 11:40:20.0

    Vijay Kalband


  • 2017-08-13 00:13:17.0

    Rajni Manro


  • 2017-08-03 23:20:11.0

    Ravi Kumar


  • 2017-07-25 23:29:55.0

    Rajat Sareen


  • 2017-07-19 18:48:34.0

    Bhavesh Fufal


  • 2017-07-18 17:37:49.0

    Swati


    Nice

  • 2017-07-17 01:10:14.0

    singh


    रहस्य से भरपूर

    बहुत ही शानदार उपन्यास लिखा है कृपया इस का तीसरा पार्ट जल्द उपलब्ध कराए ज्यादा इंतज़ार ना कराए तीसरे पार्ट का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं

  • 2017-07-16 01:12:48.0

    Sweety Chawla


    Sabse pahle to apka bahot dhanyavad ke apne mere review ko is layak samjha ke use apne is sansakaran me use jagah di Apka ye novel bhi bahot hi romanchak hai aur mujhe iske antim bhag ka intezar rahega Please jald se jald iske antim bhag ko laiye Aur is tarah ke interesting novel likhte rahiye Keep writing All the best

  • 2017-07-11 22:08:14.0

    Prashant Anand


    *Its too good, Awesome*

  • 2017-07-10 20:42:05.0

    Mahesh Mahto


    nice

  • 2017-07-07 01:19:31.0

    harish yadav


  • 2017-07-03 08:07:41.0

    Kavya


  • 2017-07-02 18:56:00.0

    Kavi


    Mind blowing

    'AMAZING' word is too little to explain goodness of this novel

  • 2017-07-01 16:35:34.0

    CHAYAN KANUNGO


    अद्वितीय रहस्मयी कहानी

    एक अदभुत कहानी को आगे बढ़ाते हुए । जैसे ही आप इस उपन्यास को पढ़ना शुरू करते है वेसे ही आप उतना ही रहस्य के सागर में गोते लगना शुरू कर देते है। बहुत ही किसी हुई कहानी अभूत लेखन शैली और पेज दर पेज बढ़ता हुआँ रह्स्य । इस कहानी को शब्दों में बयां नही किया जा सकता आप इसे पढ़गे तो खुद जान जाएंगे।

  • 2017-07-01 12:24:45.0

    Baby Saini


    Awesome

    Filled with suspense...very nice





Top

If you want to read ebooks please download our app in your favorite mobile