• Download Dailyhunt App

Sign UP / Sign In



 

Category

Home > Hindi > Chanakya Niti : Safalta Ke Sutra

Chanakya Niti : Safalta Ke Sutra ( चाणक्य नीति: सफलता के सूत्र )

Author: पं. वी. के. तिवारी

Hindi

35 ( 49% off)
18

  • My Rating


  • Review Title


  • Review Comment



To read this book you need to Download the Dailyhunt App on your phone. Available in Android, Windows & Iphone

ब्राहम्ण चाणक्य का विराट व्यक्तित्व अतुलनीय है। वे शास्त्रो के ही ज्ञाता नही थे, वरन शस्त्र संचालन सैन्य शिक्षा व्यूह संरचना सामाजिक राजनीतिक आर्थिक व्यवहारिक नीतियो के निर्धारक स्थापक प्रसारक भी थे । गुरुकुल संचालक चाणक्य ने धर्म व ईश्वरत्व को सर्वोपरि सत्ता प्रदान की है। चंद्रगुप्त के शीर्ष साम्राज्य ,सम्राटीय, विराट अधिकारों के प्रणेता सृजक तथा सामान्य से व्यक्ति को सत्तासीन कराने वाले साधु अद्भुत संकल्प शक्ति संपन्न ब्राह्मण चाणक्य थे। चंद्रगुप्त की सर्व सुशासनिक, सुव्यवस्था, सर्वहार, सर्व सामान्य के सुखो के चिंतक, राज्य समृद्धि, सुविस्तार, ज्ञान- गरिमा के कोष, चाणक्य ही थे जिनके विषय में देशी ही नही अपितु विदेशी साहित्य में भी सविस्तार से चाणक्य कृतत्व का बखान है।यह पुस्तक पाठको के लिए उपयोगी सिद्ध होगी क्योकि पारिवारिक सामाजिक कर्त्तव्य क्या हैं ।उनका पालन परिवार की सुख समृद्धि एवं शांति केलिए किस प्रकार करना चाहिए । जीवन मे धन की क्या उपयोगिता है \ धन का व्यय किस प्रकार किया जाना चाहिए \राजनेता एवं शासको के क्या कर्तव्य एवं दायित्व हैं \उनको प्रजा हित को ध्यान मे रख कर यश एवं देश की समृद्धू क्या नीति या व्यवहार करना चहिये। श्रेष्ठ व्यक्तित्व के गुणों को आत्मसात कर जीवन सुखी समृद्ध करे।परिवार मे पत्नी पुत्र पिता का क्या महत्त्व है \क्या कर्तव्य है\इसको जान कर ऐसा व्यवहार करना चाहिए जिसके कारण सर्व सुख एवं सफलता के द्वार सदैव खुले रहे । अच्छे व्यक्ति को मित्र बनाये सच्चे मित्र की परीक्षा कैसे करे \विरोधी के साथ किस प्रकार सदभावना का व्यवहार कर उसे परास्त करे \शासक या वरिष्ठ के साथ किस प्रकार का आचरण उचित होता है \ब्राहम्ण चाणक्य का विराट व्यक्तित्व अतुलनीय है। वे शास्त्रो के ही ज्ञाता नही थे, वरन शस्त्र संचालन सैन्य शिक्षा व्यूह संरचना सामाजिक राजनीतिक आर्थिक व्यवहारिक नीतियो के निर्धारक स्थापक प्रसारक भी थे । गुरुकुल संचालक चाणक्य ने धर्म व ईश्वरत्व को सर्वोपरि सत्ता प्रदान की है।

  • Release Date:
  • Book Size: 309 KB
  • Language: Hindi
  • Category: Jeevan Charitra, Anusmaran

  • 2017-09-19 21:10:23.0

    Prashant P


  • 2016-06-24 20:47:49.0

    Shambhu Yadav


  • 2016-03-14 12:09:41.0

    N Saxena


    Practical wisdom

    Insight to world wisdom is truly appreciable & cherishable!

  • 2016-03-14 10:20:30.0

    Tarique Ahmed


  • 2016-03-13 12:18:00.0

    Rudrapratap Singh


    good

  • 2016-03-13 12:01:16.0

    Rajesh Sharma


  • 2016-03-10 01:29:10.0

    Hanumanram


  • 2016-02-22 06:06:37.0

    Kundan Singh Bisht


  • 2016-02-20 00:29:45.0

    Anil Sharma


    Anil

    Bhardwaj

  • 2016-01-07 01:16:04.0

    Ravi


  • 2016-01-06 22:46:08.0

    Prashant Kumar


  • 2015-12-28 23:35:04.0

    Guri Dhaliwal


  • 2015-12-28 21:35:29.0

    Ashok Kumar


  • 2015-12-28 18:23:05.0

    Mohan Ghosalya


  • 2015-12-27 15:47:11.0

    Vinod Kumar


    Best

  • 2015-12-26 10:33:46.0

    Satpal Mappy


    g00d

  • 2015-12-26 09:31:30.0

    Op Gupta


    It was suprb book

  • 2015-12-26 00:50:38.0

    Virendra


    Fine

  • 2015-12-25 23:45:45.0

    Anil Dubey


  • 2015-12-25 16:45:04.0

    Sonu Sharma


  • 2015-12-23 21:17:32.0

    Vedprakash Tiwari


    Honesty is the best

  • 2015-12-23 06:28:18.0

    manish mourya


  • 2015-12-22 07:42:53.0

    Om Parkash Pareek


    Great book

  • 2015-12-20 19:37:31.0

    Mohit Jain


  • 2015-12-19 16:09:08.0

    Hardik


  • 2015-12-19 10:47:24.0

    bookaregood


    Good bok

  • 2015-12-17 05:25:52.0

    Dileep Panday


    जय हिन्द

    मैं जब भीे ये किताब पढ़ता हूँ मूझे एक नई सच्चाई मिलती हैं

  • 2015-12-06 18:13:48.0

    Rishiraj Singh


  • 2015-11-28 11:29:27.0

    praveen


    Best

  • 2015-11-26 02:45:29.0

    Sudhanva Iyengar


  • 2015-11-25 21:05:16.0

    Vikram


  • 2015-11-17 10:47:02.0

    sampat


    sure study

  • 2015-11-14 16:59:09.0

    Syed wasim


  • 2015-11-01 20:00:56.0

    Gajendra Saxena


  • 2015-10-30 09:03:08.0

    Ajay Tumsare


  • 2015-10-27 21:14:23.0

    ANAND KUMAR


  • 2015-10-27 20:10:13.0

    Jitendra Bhati


  • 2015-10-26 05:40:08.0

    Satish Gurjar


  • 2015-10-25 20:13:38.0

    Sushil Jayant


    Good

  • 2015-10-25 17:48:59.0

    Vishvendra


  • 2015-10-25 17:15:23.0

    Laxman Singh Dumolia


  • 2015-10-25 16:46:46.0

    Parveen Sharma


  • 2015-10-25 16:24:25.0

    vandana kapoor


  • 2015-10-23 16:30:36.0

    Jitendra Singh


  • 2015-10-21 20:02:17.0

    Vinay rai


    Excellent book

  • 2015-10-18 19:27:01.0

    Anil Kumar


  • 2015-10-18 18:31:24.0

    Ram Janak


    R

    T

  • 2015-10-18 18:14:53.0

    Rajat Dubey


  • 2015-10-18 18:11:13.0

    Ankita Raghuvansi


  • 2015-10-08 22:08:28.0

    pritesh pindoriya


    Pritesh pindoriya

    His exilent

  • 2015-10-08 08:53:06.0

    Adarsh


  • 2015-10-05 23:28:06.0

    Ram Ji Pathak


  • 2015-09-22 04:49:38.0

    Rameshchand Jangra


  • 2015-09-20 08:20:21.0

    Amit Mishra Mishra


  • 2015-09-19 18:45:36.0

    Saifee Abbasbhai Ratlamwala


  • 2015-09-19 16:45:03.0

    Bhupat Sinh


    Its good

    Great

  • 2015-09-18 22:35:14.0

    Shivendra Pratap Singh


    Good

    This book is awesome.

  • 2015-09-13 21:16:29.0

    singh singh


    Gy

    Gy

  • 2015-09-13 11:23:20.0

    alok


    अच्छी और ज्ञानवर्धक

  • 2015-08-27 13:02:56.0

    Chaudhary Vicky


    Very Very Good

  • 2015-07-22 22:14:41.0

    Abhishek


    chankya niti

    chankya niti Rs 5 rupee

  • 2015-07-01 00:56:34.0

    Rajoriya


    bhot uttam

  • 2015-06-26 22:42:20.0

    Vasant Desai


  • 2015-06-14 16:13:08.0

    Jyotish


  • 2015-06-08 22:01:19.0

    Rajendra


    amazing

  • 2015-05-31 16:13:35.0

    Sudhir Bajpai


    Book is really nice and useful

  • 2015-05-23 15:45:45.0

    sweta


    amazing book

  • 2015-03-30 23:45:28.0

    Hari.n Ghasal


    chaniky nity

  • 2015-03-22 21:28:46.0

    Sidhaant


    bhot he uttam

  • 2015-03-18 16:44:22.0

    keshav


    best amkng all-till date avilable chankya book. writer have vasr writing power matchless presentation

  • 2015-03-17 05:42:37.0

    Harsh Rawat


    harsb rawat





Top

If you want to read ebooks please download our app in your favorite mobile