Saturday, 14 Dec, 2.25 am Janman TV

जनमन tv
बलात्कारियों के लिए जिस सजा का इंतजाम किए जगन, वो दूसरे नेताओं के लिए बड़ी नसीहत

आंध्र प्रदेश विधानसभा ने शुक्रवार (13 दिसंबर) को आंध्र प्रदेश दिशा विधेयक 2019 (आंध्र प्रदेश आपराधिक क़ानून (संशोधन) अधिनियम 2019) पारित कर दिया है। इसमें महिलाओं के ख़िलाफ़ अपराध से जुड़े मामलों का निपटारा 21 दिन के भीतर करने का नियम है और इसमें दोषी को फाँसी की सज़ा भी दी जाएगी।

इस प्रस्तावित नए क़ानून का नाम 'आंध्र प्रदेश दिशा अधिनियम आपराधिक क़ानून (आंध्र प्रदेश संशोधन) अधिनियम, 2019' रखा गया है। हाल ही में पड़ोसी राज्य तेलंगाना में एक पशु चिकित्सक प्रीति रेड्डी (बदला हुआ नाम) के साथ गैंगरेप और फिर नृशंस हत्या की वारदात को अंजाम दिया गया था। यह प्रस्तावित विधेयक पीड़िता को श्रद्धांजलि स्वरूप समर्पित है। इस विधेयक को गृह राज्य मंत्री एम सुचरिता ने विधानसभा में पेश किया जिसे सत्तारूढ़ पार्टी YSR कॉन्ग्रेस ने 'क्रांतिकारी' बताया।

नए क़ानून के तहत रिकॉर्ड समय सात दिनों के भीतर यौन अपराधों के मामलों की जाँच और चार्जशीट दाखिल करने की तारीख से 14 कार्य दिवसों के भीतर मुक़दमे को पूरा करने की बात कही गई है। नए पारित क़ानून के तहत सज़ा के ख़िलाफ़ अपील को छ: महीने के अंदर निपटाना होगा।

ख़बर के अनुसार, भारतीय दंड संहिता (IPC) में तीन नए खंड 354E, 354F और 354G जोड़े जाएँगे जो महिलाओं के उत्पीड़न, बच्चों पर यौन उत्पीड़न और क्रमशः बच्चों पर बढ़ रहे यौन हमले को परिभाषित करते हैं। IPC की धारा-376 (बलात्कार), 376D (अस्पताल के किसी भी महिला के प्रबंधन या स्टाफ़ के किसी भी सदस्य द्वारा संभोग) और 376DA (16 साल से कम उम्र की महिला से सामूहिक बलात्कार) को सूचीबद्ध अपराधों के लिए मृत्युदंड में शामिल किया जाएगा।

ग़ौरतलब है कि 27 नवंबर को हैदराबाद के बाहरी इलाके शादनगर में एक युवती का अधजला शव बरामद हुआ था। उस शव की पहचान प्रीति रेड्डी के तौर पर हुई थी। प्रीति रेड्डी की गैंगरेप के बाद हत्या की गई और फिर लाश को जला दिया गया था। इस मामले में मोहम्मद पाशा, नवीन, चिंताकुंता केशावुलु और शिवा को गिरफ़्तार किया गया था।

आरोपितों की गिरफ़्तारी के बाद सोशल मीडिया पर लोग इन्हें जल्द से जल्द सज़ा दिलवाने की माँग कर रहे थे। घटना के 9 दिन के भीतर ही ख़बर आई थी कि हैदराबाद पुलिस ने इनका एनकाउंटर कर दिया। आरोपितों को पुलिस घटनास्थल पर क्राइम सीन रिक्रिएट करने ले गई थी। वहाँ पुलिस का हथियार छीन आरोपितों ने भागने की कोशिश की और पुलिस कार्रवाई में मारे गए।

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Janman TV
Top