Sunday, 22 Sep, 11.20 am Janman TV

खबर
इस बात से नाराज पति ने बेरहमी से किया पत्नी का कत्ल, सैप्टिंग टैंक में ठिकाने लगाई लाश

नई दिल्ली, 'सर! मैंने अपनी पत्नी का कत्ल कर दिया है।' रविवार सुबह रोहिणी जिले के प्रेम नगर थाने में बदहवास हालत में पहुंचे युवक ने जब यह कहा तो उसे देखकर पुलिस ने पहले समझा कि शायद वह नशे में बोल रहा है। लेकिन जब वह अपनी बात लगातार दोहराता रहा तो पुलिस ने मामले की सच्चाई जानने के लिए बीट अफसर को आरोपित के घर भेजा।
घटना स्थल पर पहुंचने के बाद जो पुलिस ने देखा, उससे पुलिस के साथ-साथ आस-पास के लोगों के भी होश उड़ गये। युवक ने पत्नी की बेरहमी से हत्या करने के बाद शव के टुकड़े- टुकड़े कर सेफ्टी टैंक में डाले थे। पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों की मानें तो 10 से 12 टुकड़े करने के बाद युवक ने सैप्टिक टेंक का ढक्कन खोलकर उसमें सभी टुकड़े डाल दिए। हालांकि देर शाम सेप्टिक टैंक से तो शव का कुछ हिस्सा बरामद हो गया जबकि नाले में तलाश जारी है। बेरहमी से की गई हत्या की इस घटना से इलाके के लोग दहशत में हैं। शुरुआती जांच में पता चला है कि उसे पत्नी के चरित्र पर शक था। सोमवार को शव का पोस्टमार्टम होने के बाद परिजनों को सौंपा दिया जाएगा।

डीसीपी एसडी मिश्रा के अनुसार पुलिस ने आशू (33) नामक इस युवक के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। वह पत्नी सीमा (30) और तीन बेटियों के साथ किराड़ी प्रेम नगर इलाके में किराये के मकान पर रहता था। दस साल पहले उनकी शादी हुई थी। सीमा संगम विहार की रहने वाली थी जबकि आशू मूलत: हरदोई (यूपी) का रहने वाला था। आशु पेशे से हार्डवेयर इंजीनियर है।

सास को बताया- मैने तुम्हारी बेटी की हत्या कर दी है

सीमा के भाई संतोष ने बताया कि आशु ने बीती रात करीब साढ़े दस बजे मां चमेली देवी को फोन किया था। आशू ने उनको कहा कि मैने तुम्हारी बेटी सीमा की हत्या कर शव के टुकड़े सेफ्टी टैंक में फेंक दिये हैं। उसके बाद उसने फोन बंद कर दिया। आशू की बात सुनकर मां सन्न रह गई लेकिन बाद में उन्होंने सोचा कि दामाद आशू ने मजाक किया है। उन्होंने यह बात किसी को भी नहीं बताई थी लेकिन सुबह जब लोगों ने फोन कर मामले की जानकारी दी तब परिवार मौके पर पहुंचा। उन्होंने दस बजे पीसीआर को वारदात की सूचना दी थी। उस समय उनको नहीं पता था कि आशू ने खुद ही थाने जाकर सरेंडर कर वारदात की जानकारी पुलिस को दे दी है।
किराये के घर से बहाने से अपने घर लाया था सीमा को
संतोष ने बताया कि दो से तीन महीने से आशू सीमा और तीनों बेटियों को लेकर किराड़ी इलाके में ही किराये के मकान पर रह रहा है। शाम करीब साढ़े सात बजे योजना के तहत वह सीमा को अपनी मां के घर लाया था जबकि तीनों बेटियों को घर पर ही छोड़ दिया था। उनको कहा था कि वह अभी वापस आ जाएंगे। घर लाकर सीमा की हत्या कर दी। आशू के परिवार में उसके पिता राकेश पाल, मां और दो छोटे भाई हैं।

पड़ोसियों ने भी नहीं सूनी कोई चीख

पड़ोसियों ने बताया कि रात को उन्होंने सीमा को आते हुए जरूर देखा था। लेकिन उसके घर में देर रात तक कोई चिल्लाने की आवाज नहीं सुनी थी। उनको शक है कि सीमा का मुंह दबाकर पहले हत्या की फिर उसे टैंक में फेंका गया होगा।
चरित्र पर शक और पारिवारिक कलह बनी हत्या का कारण पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार पिछले कुछ समय से आशू सीमा के चरित्र पर शक कर रहा था। दोनों के बीच कई बार झगड़ा भी हुआ। इसी कारण परिवार वालों ने दोनों को अलग रहने की सलाह दी थी। तभी आशू पत्नी और बेटियों को लेकर किराड़ी में किराये के मकान पर रहने आया था।

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Janman TV
Top