Saturday, 14 Dec, 9.45 pm Janman TV

खबर
जब अटल घाट में सीढ़ियों पर लड़खड़ाये PM मोदी, फिर देखे क्या हुआ..

सीढ़ियों से गिर चुके हैं कैबिनेट मंत्री गजेन्द्र सिंह के सहयोगी और जिलाधिकारी

कानपुर। राष्ट्रीय गंगा परिषद की बैठक में कानपुर आये प्रधानमंत्री अटल घाट से गंगा का जलीय निरीक्षण किया। गंगा में पहुंचने से पहले प्रधानमंत्री अटल घाट की सीढ़ियों पर लड़खड़ाए और गिरते गिरते बचे। यह देख एनएसजी कमांडो ने प्रधानमंत्री को संभाला और फिर प्रधानमंत्री आगे के लिए बढ़ गये। प्रधानमंत्री ने तो किसी को कुछ नहीं कहा पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रधानमंत्री के जाने के बाद एक घंटे तक वहीं रुके और अधिकारियों की क्लास लगायी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विशेष विमान से शनिवार की सुबह कानपुर के चकेरी एयरपोर्ट पर उतरे तो सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ मंत्रिमंडल के सहयोगियों तथा केंद्रीय मंत्रियों ने स्वागत किया। नमामि गंगे के अभियान में लगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय गंगा परिषद की पहली बैठक चन्द्रशेखर आजाद कृषि प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (सीएसए) में की। यहां पर प्रधानमंत्री ने नमामि गंगे की परियोजनाओं का हाल जाना और आगामी योजनाओं के विषय में विचार विमर्श किया। इसके बाद गंगा की जमीनी हकीकत जानने के लिए प्रधानमंत्री अटल घाट पहुंचे और गंगा को नमन किया। इसके बाद बोट में सवार होकर गंगा की अविरलता और निर्मलता का जायजा लिया। बोट से वह बंद हुए सीसामऊ नाले तक गए और वहां बने सेल्फी प्वाइंट को देखा। करीब 45 मिनट तक प्रधानमंत्री ने मां गंगा की गोद में बिताए।

गंगा नदी में नाव से प्रदूषण तथा सफाई का जायजा लेने के बाद वापसी के समय यहां पर बनायी गयी सीढ़ियों में प्रधानमंत्री अपने अंदाज में तेजी से चढ़ने लगे और आधी दूर बाद उनका पैर एक सीढ़ी पर फिसल गया, जिससे लड़खड़ा गये। प्रधानमंत्री को को लड़खड़ाता देख एनएसजी कमांडो ने फौरन संभाला। इसके बाद प्रधानमंत्री बिना किसी को कुछ कहे उसी अंदाज में आगे के लिए बढ़ गये। स्टीमर से गंगा नदी का जायजा लेने के बाद पीएम मोदी दिल्ली रवाना होने के लिए चकेरी एयरपोर्ट के लिए निकल गये। वहीं प्रधानमंत्री का लड़खड़ाना मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को नागवार गुजरा और प्रधानमंत्री के जाने के बाद मुख्यमंत्री एक घंटे तक वहीं रुके। बताया जा रहा है कि इस दौरान मुख्यमंत्री का पारा हाई रहा और संबंधित अधिकारियों को जमकर फटकार लगायी। मुख्यमंत्री के तेवरों से माना जा रहा है कि जिम्मेदारों पर कार्रवाई हो सकती है।

कैबिनेट मंत्री के सहयोगी भी गिरे

प्रधानमंत्री के शहर आगमन को लेकर तीन दिन पूर्व केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत तैयारियों का जायजा लेने कानपुर आये थे। कैबिनेट मंत्री अपने सहयोगी अधिकारियों के साथ अटल घाट का निरीक्षण कर रहे थे तभी उनके एक सहयोगी का पैर सीढ़ियों पर फिसल गया और वह गिर गये। इसके कुछ ही देर बाद कानपुर के जिलाधिकारी विजय विश्वास पंत भी सीढ़ियों से गिर पड़े। उस दौरान केन्द्रीय मंत्री ने नाराजगी भी जाहिर की थी इसके बावजूद कोई सुधार नहीं हुआ और प्रधानमंत्री भी अन्ततः फिसल ही गये।

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Janman TV
Top