Saturday, 26 Oct, 7.20 pm Janman TV

जनमन tv
कमलेश तिवारी हत्याकांड : क्या है लव जिहाद की फर्जी कहानी का कनेक्शन ?

कमलेश तिवारी हत्याकांड में आए दिन नए खुलासे हो रहे हैं. ताजा जानकारी के मुताबिक जब रोहित सोलंकी बना अशफाक और संजय बना मोइनुद्दीन कमलेश तिवारी के घर पहेँचा तो कमलेश तिवारी ने अशफाक से मोइनुद्दीन के बारे में पूछा. इस पर अशफाक ने कमलेश तिवारी को उत्तेजित करने के लिए पहले से ही गढ़ी हुई झूठी और मनगढ़ंत कहानी सुनाई. उसने कहा कि मोइनुद्दीन की बहन को एक मुस्लिम लड़के ने प्रेम जाल में फँसा लिया है. उसे उसके जाल से कैसे निकाला जाए?

अशफाक के मुँह से मुस्लिम लड़के द्वारा हिन्दू लड़की को फँसा लिए जाने की कहानी सुनकर कमलेश तिवारी आवेश में आ गए. उन्होंने कहा कि अपनी बहन को मुस्लिम लड़के से दूर रखो और एक हिन्दू लड़का देखकर उसकी शादी करा दो. कमलेश तिवारी ने उसे आश्वासन देते हुए कहा कि अगर मुस्लिम युवक उसकी बहन को परेशान करेगा तो वो उसे अपने स्तर पर देख लेंगे. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि अगर उसकी बहन या उसके पति को कोई खतरा हो तो उसे लखनऊ भेज दे. वो उसकी बहन के पति को यहाँ रोजगार उपलब्ध करा देंगे.

एक और बात सामने आई है. कमलेश तिवारी खुद दोनों आरोपियों से मिलने के लिए होटल जाने वाले थे, मगर दोनों ने यह कह कर मना कर दिया कि वो परेशान न हों. इसके बाद उन्होंने दोनों को अपने कार्यालय पर ही बुला लिया.

बता दें कि आरोपित 17 अक्टूबर की रात को ही कमलेश तिवारी से मिलना चाहते थे, लेकिन उन्होंने रात में मिलने से मना कर दिया था. हत्यारों ने 18 अक्टूबर की सुबह फिर उन्हें मिलने के लिए फोन किया तो कमलेश तिवारी ने खुद होटल आकर मिलने की बात कही.

मगर हत्यारों के इरादे तो कुछ और थे, इसलिए उन लोगों ने कहा कि वो क्यों परेशान होंगे. इसके बाद तिवारी ने 18 अक्टूबर को 12 बजे से 1 बजे के बीच उन दोनों को अपने कार्यालय में बुला लिया.

गौरतलब है कि हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की अशफाक और मोइनुद्दीन ने दिन-दहाड़े गोली मार कर और गला रेत कर हत्या कर दी थी. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में भी खुलासा हुआ कि हत्यारों ने पहले उन्हें गोली मारी और फिर धारदार चाकू से सीने पर ही 7 बार वार किए गए.

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Janman TV
Top