Tuesday, 10 Dec, 5.32 pm Janman TV

खबर
नागरिकता संशोधन बिल पर पाक को लगी मिर्ची, बिलबिलाए इमरान ने बड़ी बात बोली

भारतीय संसद या अदालत में कोई भी मुद्दा सुलझे और पाकिस्तान बीच में न कूदे ऐसा कभी नहीं हो सकता. ऐसा लगता है कि इमरान खान सुबह-शाम भारत के न्यूज़ चैनल ही देखते रहते हैं और मोदी सरकार के किसी भी कदम का त्वरित विरोध कर देते हैं. अनुच्छेद 370 और अयोध्या मामले के बाद अब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने नागरिकता संशोधन विधेयक पर रोना रोया है. पाकिस्तान के तरफ आधिकारिक बयान तो आया ही है साथ-साथ इमरान खान ने भी ट्विटर पर अपना दुखड़ा रोया है.

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने मध्य रात्रि के बाद एक बयान जारी किया. उसमें कहा गया है,- 'हम इस विधेयक की निंदा करते हैं. यह भेदभावपूर्ण है और सभी संबद्ध अंतरराष्ट्रीय संधियों और मानदंडों का उल्लंघन करता है. यह पड़ोसी देशों में दखल का भारत का दुर्भावनापूर्ण प्रयास है.'

इस बयान में कहा गया कि इस बिल का आधार झूठ है और यह धर्म या आस्था के आधार पर भेदभाव को हर रूप में खत्म करने संबंधी मानवाधिकारों की वैश्विक उद्घोषणा और अन्य अंतरराष्ट्रीय संधियों का पूर्ण रूप से उल्लंघन करता है.

इसके बाद इमरान खान ने ट्वीट किया.

'भारतीय लोकसभा के द्वारा नागरिकता विधेयक को पारित किए जाने की हम कड़ी निंदा करते हैं. यह बिल अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार कानूनों और पाकिस्तान के साथ हुए द्विपक्षीय समझौतों का उल्लंघन है. ये राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के हिंदू राष्ट्र का एजेंडा है जिसे अब मोदी सरकार लागू कर रही है.'

वैसे ऐसा पहली बार नहीं है जब इमरान खान और पाकिस्तान ने भारत के किसी मामले में इस तरह से पीएम मोदी और RSS को लेकर बयानबाजी की हो. राम मंदिर पर फैसला आने के बाद पाक आर्मी के प्रवक्ता (DG ISPR) मेजर जनरल आसिफ गफ़ूर ने ट्विटर पर एक के बाद एक ट्वीट करते हुए भारत पर निशाना साधा था.

इससे पहले पाकिस्तान कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाये जाने के फैसले के खिलाफ भी प्रोपेगैंडा फैलाने के लिए कई बार UN में ले जाने की कोशिश की जहां उसे हार का ही सामना करना पड़ा. पाक ने चीन की मदद से कश्मीर मामले को UN सिक्योरिटी काउंसिल में भी ले जाने का प्रयास किया लेकिन उसे वहां भी असफलता मिली थी.

ये सोचने वाली बात है कि जो देश अपने अल्पसंख्यकों के साथ पशुओं से भी बदतर व्यवहार करता है, वो आखिर नागरिकता संशोधन विधेयक जैसे हमारे आंतरिक मामलों में टांग कैसे अड़ा सकता है?

Post Views: 43

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Janman TV
Top