Wednesday, 25 Sep, 12.20 pm Janman TV

खबर
पाक में कुदरत का कहर : फटीं सड़कें, जमींदोज मकान और 31 की गई जान

पाकिस्तान में मंगलवार आपराह्न भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए, जिसकी तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 5.8 मापी गई। इस भूकंप में जानमाल का काफी नुकसान हुआ है। PoK में 31 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि सैकड़ों लोग घायल हुए हैं. इस बात की पुष्टि खुद पाकिस्तान के गृह विभाग ने की है।

समाचार पत्र डॉन के मुताबिक, इस भूकंप के झटके पाकिस्तान के झटके लाहौर रावलपिंडी, इस्लामाबाद, गुलाम कश्मीर, स्यालकोट, सरगोदा, मनसेहरा, चित्राल, मुल्तान, बाजौर, पेशाबर मलकंड मीरपुरसाहीवाल और स्वात में महसूस किए गए। इतना ही भूकंप की तरंगों ने दिल्ली, एनसीआर, पंजाब, हिमाचल, जम्मू एवं कश्मीर, राजस्थान और हरियाणा को भी अपनी चपेट में ले लिया।

अमेरिकी भूगर्भीय सर्वेक्षण के मुताबिक, भूकंप का केंद्र गुलाम कश्मीर में झेलम नदी के उत्तर में दस किलोमीटर जमीन के अंदर था। पाकिस्तानी मौसम विभाग के प्रमुख मुहम्मद रियाज ने समाचार एजेंसी एएफपी से कहा कि भूकंप से ज्यादा प्रभावित पाकिस्तान के पंजाब और खैबर पख्तूनक्ष्वा प्रांत हुए हैं और सबसे ज्यादा क्षति मीरपुर और गुलाम कश्मीर में हुई है। एक चश्मदीद सज्जाद जराल और काजी ताहिर ने समाचार एजेंसी से कहा कि मीरपुर में मकानों के गिरने से कम से कम 58 लोग घायल हुए हैं और कई जगहों पर सड़कों में बड़ी दरारें पड़ गई हैं।

भूकंप के झटके महसूस होने पर पंजाब, राजस्थान और हरियाणा में लोग घबरा गए और अपने घरों से बाहर निकल आए। पाकिस्तान के हर शहर में यही हाल रहा। पाकिस्तानी सेना की मीडिया शाखा ने ट्वीट कर कहा है कि सेनाध्यक्ष कमर जावेद बाजवा ने गुलाम कश्मीर में राहत और बचाव कार्य में नागरिक प्रशासन को सहयोग करने का आदेश दिया है। नागरिक उड्‌डयन और मेडिकल टीम के साथ सेना की टुकड़ी को गुलाम कश्मीर के लिए रवाना कर दिया गया है।

विदित हो कि इससे पहले पाकिस्तान और अफगानिस्तान में साल 2015 में 7.5 तीव्रता का भूकंप आया था जिसमे चार सौ लोगों की मौत हो गई थी।साल 2005 में पाकिस्तान में 7.6 तीव्रता का भूकंप आया था जिसमें 7300 लोगों की मौत हो गई थी। इस आपदा से गुलाम कश्मीर में 35 लाख लोग बेघर हो गए थे।

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Janman TV
Top