Tuesday, 04 Aug, 1.55 pm News India Live

ब्रेकिंग न्यूज़
राजस्थान के बाग़ी विधायकों की 'घर वापसी' के लिए कांग्रेस तैयार, लेकिन रखीं ये शर्तें

कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा है कि राजस्थान के बाग़ी कांग्रेस विधायकों को वापसी के लिए बातचीत से पहले बीजेपी से दोस्ती तोड़नी होगी. उन्होंने कहा कि अगर वे बीजेपी से दोस्ती तोड़ते हैं और उसकी मेज़बानी छोड़ते हैं तो तब वे 'घर' लौट सकते हैं.

राजस्थान में अशोक गहलोत के नेतृत्व से नाराज़ होकर बाग़ी हुए सचिन पायलट सहित 19 कांग्रेस विधायकों की वापसी की संभावना के सवाल पर सुरजेवाला ने कहा, 'सबसे पहले बाग़ी विधायक वार्तालाप करें और उसको करने के लिए पहली शर्त है कि बीजेपी की मेजबानी छोड़ें. मनोहर लाल खट्टर की अगुवाई वाली हरियाणा की बीजेपी सरकार का सुरक्षा चक्र छोड़ें.'

सुरजेवाला ने कहा,'हरियाणा में आए दिन बच्चों की हत्याएं हो रही है, सामूहिक दुष्कर्म हो रहे हैं, गुड़गांव में लोगों को सरेराह पीटा जा रहा है और इसके लिए पुलिस उपलब्ध नहीं लेकिन इन 19 विधायकों की सुरक्षा के लिए एक हज़ार के क़रीब पुलिस कर्मी लगाए गए हैं. कांग्रेस के नारा विधायकों को बीजेपी जो सुरक्षा दे रही है उसके क्या मायने हैं?'

सुरजेवाला ने कहा, 'इसलिए बागी विधायक पहले बीजेपी की आवभगत छोड़ें. पहले बीजेपी से मित्रता तोड़ें, पहले बीजेपी का साथ छोड़ें, उसकी मेहमाननवाज़ी छोड़ें, पहले बीजेपी का सुरक्षा चक्र तोड़े अपने घर वापसी करें तब वार्तालाप होगा.'

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस व उसके समर्थक विधायक यहां जैसलमेर के एक निजी होटल में रुके हुए हैं, जबकि सचिन पायलट की अगुवाई में 19 बाग़ी विधायकों के हरियाणा के होटल में रुके होने के समाचार हैं.

राज्य विधानसभा का सत्र 14 अगस्त से शुरू होगा. सुरजेवाला ने इस अवसर पर राम मंदिर के भूमि पूजन कार्यक्रम के बारे में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा का बयान भी जारी किया. इसमें प्रियंका ने कहा है कि रामलला के मंदिर के भूमिपूजन का कायर्क्रम बुधवार को है. भगवान राम की कृपा से यह कायर्क्रम उनके संदेश को प्रसारित करने वाला राष्ट्रीय एकता, बंधुत्व और सांस्कृतिक समागम का कायर्क्रम बने.

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: News India Live
Top