Saturday, 23 Jun, 3.03 am पीपुल्स समाचार

ग्वालियर
जनता पानी के लिए त्रस्त भाजपा विकास यात्रा में मस्त्

ग्वालियर। शहर में व्याप्त पानी के संकट व गंदे पानी की समस्या के विरोध में शहर कांग्रेस के आह्वान पर मितेंद्र सिंह के नेतृत्व में कांग्रेसजनों और क्षेत्रीय नागरिकों ने शुक्रवार को निगम परिषद का घेराव कर महापौर को ज्ञापन दिया। महापौर ने स्वयं कार्यालय से बाहर आकर ज्ञापन लिया। ज्ञापन में मांग की गई है कि चंबल से पानी ग्वालियर लाने की योजना को जल्द पूरा किया जाए, वार्ड 18, 21 व 23 में पीले पानी का वितरण शीघ्र बंद कराया जाए, जिन क्षेत्रों में 3, 4 दिन में पानी दिया जा रहा है, वहां प्रतिदिन पानी दिया जाए, पानी की किल्लत वाले क्षेत्रों में टैंकरों की संख्या बढ़ाई जाए, आवश्यकता अनुसार नलकूप खनन के आदेश रैन वाटर हार्वेस्टिंग के साथ दिए जाएं, टंकियों के पानी का व्यवसायीकरण रोका जाए ताकि टंकियां पूरी भर सकें। इस मौके पर मितेंद्र सिंह ने अपने संबोधन में कहा कि नगर निगम में 45 साल से, प्रदेश में 15 साल से और केंद्र में 4 साल से भाजपा की सरकारें हैं, फिर भी शहर की पेयजल समस्या का निदान नहीं हो सका, जबकि 100 वर्ष पूर्व सिंधिया परिवार ग्वालियर के लगभग 50 हजार लोगों की प्यास बुझाने के लिए बनाए गए तिघरा जलाशय पर आज भी हमारा शहर निर्भर है। शहर के लोग गंदा पानी पीने को मजबूर हैं, फिर भी भाजपा विकास यात्रा में मस्त है। ज्ञापन देने से पहले कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. देवेन्द्र शर्मा ने कहा की ग्वालियर शहर में पानी की समस्या हर साल आती है, लेकिन भाजपा सरकार नींद से नहीं जाग रही है।

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Peoples Samachar
Top