Friday, 22 Jan, 1.15 am राज एक्सप्रेस

समाचार
भोपाल : कमलनाथ को कोषाध्यक्ष और पायलट को राष्ट्रीय महासचिव बनाने की तैयारी

भोपाल, मध्य प्रदेश। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ भले ही इस बात का दावा कर चुके हों कि वे मध्यप्रदेश छोड़कर नहीं जाएंगे, लेकिन कांग्रेस आलाकमान लगभग यह तय कर चुका है कि कमलनाथ को पार्टी के कोषाध्यक्ष के रूप में पदस्थ किया जाएगा। इसके साथ ही राजस्थान के कांग्रेस नेता सचिन पायलट को राष्ट्रीय महासचिव के अलावा कुछ राज्यों का प्रभार और राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी का दायित्व सौंपा जा सकता है। इन दोनों ही नेताओं का कद निश्चित तौर पर बढ़ेगा।

जानकारी के अनुसार पिछले दिनों कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के बेहद खास अहमद पटेल के निधन के बाद से ही उनके स्थान को भरने की कवायद शुरू हो गई थी। उनके स्थान पर गांधी परिवार अपने किसी नजदीकी नेता को जिम्मेदारी सौंपना चाहता है, लेकिन अब कांग्रेस में इस स्तर का कोई भी नेता शेष नहीं है। ऐसे में इंदिरा गांधी के समय से गांधी परिवार के सबसे नजदीक रहे कमलनाथ ही एकमात्र विकल्प हैं। पिछली बैठकों में हुई चर्चा के अनुसार कई आला कांग्रेस नेताओं ने कमलनाथ को कोषाध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपे जाने पर सहमति जाहिर की है। गांधी परिवार भी चाहता है कि मोतीलाल वोरा और अहमद पटेल की जगह अब कमलनाथ जिम्मेदारी लें। हालांकि अब तक कमलनाथ ने इसकी सहमति नहीं दी है। फिर भी कांग्रेस हाईकमान लगभग यह तय कर चुका है कि कांग्रेस कोषाध्यक्ष पद पर कमलनाथ को पदस्थ किया जाएगा। उनके कोषाध्यक्ष बनने से पहले मध्यप्रदेश में भी कांग्रेस अध्यक्ष पद पर कमलनाथ के विश्वसनीय किसी नेता को पदस्थ किया जाएगा।

कमलनाथ ही क्यों :

राष्ट्रीय स्तर पर कांग्रेस के पास अनुभवी नेताओं की बेहद कमी है। इसके अलावा गांधी परिवार के विश्वसनीय लोगों में कमलनाथ ही एक मात्र ऐसे नेता हैं जिन्होंने इंदिरा गांधी, संजय गांधी, राजीव गांधी और सोनिया गांधी के साथ बेहतर काम किया है। उनकी निष्ठा कांग्रेस और गांधी परिवार के प्रति अटूट है। इसके अलावा उनमें पार्टी मैनेजमेंट से लेकर चुनाव मैनेजमेंट तक के बेहतर गुण हैं। जिसकी वजह से कमलनाथ को अब कोषाध्यक्ष बनाया जा रहा है।

सचिन पायलेट होंगे कांग्रेस का नया युवा चेहरा :

राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के बाद कांग्रेस के पास राष्ट्रीय स्तर पर युवाओं की भीड़ को खींचने वाला कोई चेहरा मौजूद नहीं है। इससे पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया इस कमी को पूरा करते थे, लेकिन बीते मार्च माह में सिंधिया ने कांग्रेस छोड़ बीजेपी की सदस्यता ले ली, जिसकी वजह से एक बड़ा स्थान खाली हो गया। कांग्रेस आलाकमान इस खाली स्थान को भरा चाहता है और सचिन पायलट जैसे प्रतिभावान नेता को राष्ट्रीय स्तर पर जिम्मेदारी सौंपी जा रही है। पायलट को पार्टी का राष्ट्रीय महासचिव, मीडिया प्रभारी और कुछ राज्यों का प्रभारी बनाया जा सकता है। निश्चित तौर पर इससे पायलेट का कद पार्टी में बढ़ेगा। यह भी बताया जा रहा है कि सचिन पायलट को देश भर में सभाएं, दौरे करने की आजादी होगी और संगठन में युवाओं की फौज खड़े करने की योजना तैयार करने को कहा गया है।

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Raj Express
Top