Wednesday, 25 Jul, 11.18 am

कानपुर
कारगिल दिवसः कानपुर में अमर जवान ज्योति जलाकर शहीदों को नमन, आंधी में भी नहीं बुझेगी ये विशेष ज्योति

कारगिल दिवस की पूर्व संध्या पर बुधवार को कानपुर के मोतीझील में महापौर ने अमर जवान ज्योति प्रज्जवलित की। शहीदों को नमन करते हुए उनके परिजनों को सम्मानित किया गया। सम्मानित होते समय चीन युद्ध में अपने दोनों पैर गंवाने और वहां की जेल में रहने वाले शिव सिंह की आंखों में आंसू आ गए।

मोतीझील के अमर जवान चौक में सीयूजीएल की तरफ से कारगिल के शहीदों की याद में अमर जवान ज्योति स्थापित की गई है। देर शाम अमर शहीदों की याद में आयोजित समारोह के दौरान महापौर प्रमिला पांडेय ने अमर जवान ज्योति का लोकार्पण किया। बताया कि यह अखंड ज्योति है। 24 घंटे जलती रहेगी। शहीदों के परिजनों को आश्वासन दिया कि उन्हें जब भी कोई सेवा की जरूरत हो, वे तत्काल बताएं। विशिष्ट अतिथि ब्रिगेडियर नवीन सिंह ने शहीदों को याद किया। सीयूजीएल के प्रबंध निदेशक अमरेंद्र कुमार ने बताया कि अमर जवान ज्योति प्रदेश में स्थापित पहली अमर जवान ज्योति है।

इस मौके पर महापौर और ब्रिगेडियर ने चीन युद्ध में अपने दोनों पैर गंवाने वाले और चीन में ही छह महीने बंदी रहने वाले 81 वर्षीय शिव सिंह, आतंकियों से मोर्चा लेते समय शहीद हुए कैप्टन आयुष यादव के पिता अरुणकांत यादव, शहीद मेजर सलमान के पिता मुश्ताक अहमद, शहीद गनर गोपाल स्वरूप दीक्षित की पत्नी आंचल, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी शिव वर्मा की बहू कृष्णा वर्मा को सम्मानित किया।

कार्यक्रम का संचालन डॉ. संध्या शर्मा और पंकज श्रीवास्तव ने किया। इसमें उप सभापति नवीन पंडित, सपा पार्षद दल के नेता एवं अमर जवान ज्योति का प्रस्ताव नगर निगम कार्यकारिणी एवं सदन में रखने वाले हाजी सोहेल अहमद, कांग्रेस पार्षद दल के नेता कमल शुक्ल बेबी, नगर आयुक्त संतोष कुमार शर्मा, अपर नगर आयुक्त अमृत लाल बिंद, राजीव शुक्ल, चंद्रशेखर आजाद जनकल्याण समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष सर्वेश पांडेय निन्नी आदि शामिल रहे। एएनडी कालेज की छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए।

स्विच ऑन करते ही प्रज्जवलित हुई ज्योति
सीयूजीएल के डिप्टी मैनेजर मोहम्मद वकील ने बताया कि अमर जवान ज्योति में आटोमैटिक बर्नर है। महापौर ने इसे प्रज्जवलित करते समय जैसे ही स्चिव ऑन किया, तुरंत गैस आटोमैटिक बर्नर में पहुंची और हवा में मौजूद आक्सीजन के संपर्क में आते ही आटोमैटिक स्पार्क हुआ और ज्योति प्रज्जवलित हो गई।

देश की तीसरी अमर जवान ज्योति है
महापौर ने बताया कि यह देश की तीसरी अमर जवान ज्योति है। इंडिया गेट और जम्मू रेलवे स्टेशन के बाहर चौक में पहले से ज्योति जल रही है।

अमर जवान ज्योति प्रज्जवलित होने से गर्व महसूस हो रहा है। देश के लिए अपनी जान गंवाने वालों के परिजनों को सम्मानित करने से जन सामान्य को प्रेरणा मिलती है। बच्चों में सेना में जाने की इच्छा बढ़ती है।- शिव सिंह रिटायर्ड फौजी

यह शहीदों को याद करने की अच्छी परंपरा है। अमर ज्योति चौक से जो निकलेगा, देखेगा, वह शहीदों को याद करेगा। शहीदों के परिजन भी खुद को सम्मानित महसूस करते हैं।-
अरुण कांत यादव, कैप्टन आयुष के पिता

अमर जवान ज्योति जलाकर बहुत सराहनीय कार्य किया गया है। सरकार को शहीदों का ध्यान रखना चाहिए। उनके आश्रितों को नौकरी मिलनी चाहिए।- आंचल, शहीद गनर गोपाल स्वरूप दीक्षित की पत्नी

यह बहुत गर्व की बात है। शहीदों के परिजनों को बुलाकर सम्मानित किया गया है। उम्मीद करते हैं कि कारगिल दिवस की पूर्व संध्या पर हर साल समारोह होता रहे।-मुश्ताक अहमद, शहीद मेजर सलमान के पिता

अमर जवान ज्योति शहीदों के प्रति सच्ची श्रृद्धांजलि हैं। मेरा मानना है कि इससे युवा पीढ़ी को देश के प्रति लगाव एवं देश के लिए सब कुछ कर गुजरने की प्रेरणा देगी।-कृष्णा वर्मा, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी शिव वर्मा की बहू

Dailyhunt
Top