Saturday, 31 Oct, 10.10 am 5 Dariya News

पंजाब
मोदी सरकार देश की आर्थिक बर्बादी का दूसरा नाम : सुनील जाखड़

पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार देश की आर्थिक बर्बादी का दूसरा नाम सिद्ध हो रही है। उन्होंने कहा कि नोटबंदी, जी.एस.टी के माध्यम से भाजपा की केंद्र सरकार ने छोटे व्यापारी को तबाह कर दिया था और अब काले कृषि कानूनों के साथ इसने देश के पेट पालक किसान की बर्बादी की इबारत लिख दी है।आज होशियारपुर जिले के टांडा में किसान जागरुकता सभा को संबोधित करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने देशभर के किसानों के हकों की लड़ाई लड़ रहे पंजाब को अलग-थलग करने की साजिश के अंतर्गत बातचीत केवल पंजाब के किसानों को बुलाया व फिर बातचीत भी न करजाब का अपमान किया था। उन्होंने कहा कि गुरुओं की धरती पंजाब केंद्र सरकार की किसी धक्केशाही को बर्दाश्त नहीं करेगा। उन्होंने केंद्र सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि पंजाब का नुकसान करने की केंद्र की साजिश का असर देश के समूची आर्थिकता पर पड़ेगा।पूर्व प्रधान मंत्री स. मनमोहन सिंह को याद करते हुए श्री सुनील जाखड़ ने कहा कि उन्होंने अपने कार्यकल के दौरान देश की विकास दर भी बरकरार रखी व मुश्किल दौर में भी देश के विकास को रुकने नहीं दिया था, बल्कि मगनरेगा, खाद्य सुरक्षा का अधिकार जैसे कानून लाकर कमजोर वर्ग का हाथ भी थाना था, जबकि प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी बड़े कार्पोरेट घरानों के हित पूरे करने में लगे हुए हैं।प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि नए कृषि कानूनों के माध्यम से मोदी सरकार किसानों को बहुर्राष्ट्रीय कंपनियों का गुलाम बनाना चाहती है। उन्होंने सावधान करते हुए कहा कि जब किसान के पास पैसा आता है तभी आर्थिकता का पहिया घूमता है।

उन्होंने कहा कि एम.एस.पी को बंद करने की केंद्र सरकार की साजिश को सफल नहीं होने दिया जाएगा। उन्होंने केंद्र सरकार को याद करवाया कि पंजाब सोया नहीं है बल्कि यह न केवल अपनी बल्कि पूरे देश के किसानों की लड़ाई लड़ रहा है।श्री जाखड़ ने कहा कि यदि कार्पोरेट संस्थान इतने ही किसानों के हितैषी है तो उत्तर प्रदेश की चीनी मिलों की ओर से किसानों का खड़ा 12000 करोड़ रुपया पहले किसानों को दिलाया जाए। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार अपनी जिद्द पूरा करने के लिए पंजाब की आर्थिक घेराबंदी कर रही है। उन्होंने कहा कि जी.एस.टी का हिस्सा रोकने के बाद अब देहाती विकास फंड बंद करने की बात केंद्र सरकार कर रही ह। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार पिछली अकाली भाजपा सरकार के समय में हुए 31000 करोड़ रुपए के अनाज घोटाले की जांच क्यों नहीं करवाती। उन्होंने शिरोमणि अकाली दल की बात करते हुए कहा कि सारी उम्र किसानों के नाम पर राजनीति करने वाले स. सुखबीर सिंह बादल अभी भी केंद्र सरकार के खिलाफ नहीं बोल रहे हैं, जिससे सिद्ध होता है कि वे अभी भी पंजाब में भाजपा के एजेंट के तौर पर काम कर रहे हैं। इस मौके पर मुख्य मंत्री के सलाहकार विधायक संगत सिंह गिलजियां, विधायक अरुण डोगरा, विधायक इंदू बाला ने भी संबोधित किया। इस मौके पर जोगिंदर सिंह गिलजियां, जिला यूथ कांग्रेस अध्ययक्ष एडवोकेट दमनदीप सिंह, एडवोकेट दलजीत सिंह गिलजियां, रविंदर पाल, अवतार सिंह, सिमरन सैनी, राकेश वोहरा, सुखविंदरजीत सिंह झावर, दविंदरजीत सिंह, लखवीर सिंह, हरी कृष्ण सैनी, गुरसेवक मार्शल, रमेश कुमार मुकेरियां, एडवोकेट सभ्य सांची, ठाकुर जगदेव सिंह, किशोर लाल, नरिंदर टप्पू, मनी, जगदीश खरल, किशन लाल वैद के अलावा अन्य गणमान्य भी मौजूद थे।किसान सभा के बाद श्री सुनील जाखड़ ने नजदीकी गांव जलालपुर जाकर छह वर्ष की बच्ची के साथ दुष्कर्म कर हत्या की खौफनाक घटना पर पीडि़त परिवार के साथ दुख सांझा कर हमदर्दी भी प्रकट की। उन्होंने पीडिक़ परिवार को भरोसा दिलाया कि पंजाब सरकार उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी है।

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: 5 Dariya News Hindi
Top