Saturday, 18 Jan, 5.30 pm अपनी रसोई

होम
गंजापन दूर करने का बिल्कुल आसान नुस्खा।

गंजापन (Baldness) की स्थिति में सिर के बाल बहुत कम रह जाते हैं। गंजापन की मात्रा कम या अधिक हो सकती है। गंजापन को एलोपेसिया भी कहते हैं। जब असामान्य रूप से बहुत तेजी से बाल झड़ने लगते हैं तो नये बाल उतनी तेजी से नहीं उग पाते या फिर वे पहले के बाल से अधिक पतले या कमजोर उगते हैं। इसके चलते बालों का कम होना या कम घना होना शुरू हो जाता है और ऐसी हालत में सचेत हो जाना चाहिए क्योंकि यह स्थिति गंजेपन की ओर जाती है।
गंजापन दूर करने का नुस्खा: दोस्तों, गंजापन कोई बीमारी नहीं बल्कि एक कारण है। गंजेपन को दूर करने के लिए हजारों रासायनिक पदार्थ आज बाजार में उपलब्ध हैं, लेकिन कोई असर नहीं है। "गंजेपन को कैसे दूर करें" के विज्ञापन को देखें। लोगों को पता नहीं है कि वे कितने पैसे खर्च करते हैं और बाजारू दवाओं का इस्तेमाल करते हैं लेकिन कोई फायदा नहीं होता है और उन्हें साइड इफेक्ट्स का भी सामना करना पड़ता है। तो दोस्तों चलिए जानते हैं कुछ आसान नुस्खों के बारे में जो आपको इन समस्याओं से छुटकारा दिला सकते हैं।
प्याज के अर्क से इलाज
छोटे आकार के 500 ग्राम प्याज के छिलके को निकालें, इसे अच्छी तरह से धोएं और कपड़े से पोंछकर हवा में रखें ताकि यह अच्छी तरह से सूख जाए। इसके बाद, प्याज को छोटे टुकड़ों में काट लें, और एक बर्तन में 500 मिलीलीटर पानी लें और इसे गर्म करने के लिए गैस या स्टोव पर रखें। जब पानी उबलने की स्थिति में आ जाए, तो पानी में प्याज के टुकड़े डालें। इसे धीमी आंच पर तब तक उबालें जब तक पानी आधा न हो जाए। आधे में पानी उबलने के बाद आँच बंद कर दें। इसको लगभग 12 घंटे तक किसी सुरक्षित स्थान पर ठंडा होने के लिए रख दें। जब पानी ठंडा हो जाए और पूरी तरह से स्थिर हो जाए, तो इसे छान लें और प्याज के टुकड़ों को बाहर निकाल दें। इस तैयार प्याज के अर्क को बोतल या स्प्रे बोतल में भरें, भरते समय इस बात का ध्यान रखें कि अर्क पूरी तरह से ठंडा होना चाहिए।
इस अर्क को रात में सोते समय उंगलियों की मदद से या रुई की मदद से लगाएं। आप इसे लगाने के लिए एक स्प्रे बोतल का भी उपयोग कर सकते हैं, इसे लगाने के बाद थोड़ी देर के लिए अपने बालों की जड़ों में मसाज करें। आप इस अर्क का उपयोग कभी भी कर सकते हैं, बस इस बात का ध्यान रखें कि इसे लगाते समय बाल साफ हों और लगाने के कम से कम चार घंटे बाद ही धोयें।
नींबू के बीज का तेल
नीबू के बीज ले लीजिए। यदि घर पर इतना बीज उपलब्ध नहीं है, तो आपको मात्र बीज के लिए नीबू खरीदने की आवश्यकता नहीं है। आप रोजाना घर में जो भी नींबू का उपयोग करते हैं, उसके बीजों को इकट्ठा कर सकते हैं, आप नींबू के रस व शिकंजी की दुकान से नींबू के बीज भी ले सकते हैं क्योंकि वे दिन भर में अधिक नींबू का उपयोग करते हैं। नींबू के बीजों को अच्छे से धोकर सुखा लें। सूखने के बाद इन बीजों को मिक्सर में या किसी अन्य तरीके से पेस्ट बनाकर बर्तन में रखें। नींबू के पेस्ट के लगभग चार गुना मात्रा में नारियल का तेल लें । एक बर्तन में तेल डालकर गैस पर धीमी आंच पर रखें। जब तेल गर्म और पतला हो जाता है, तो इसमें नींबू के बीज का पेस्ट मिलाएं और करछी या चिम्मच की मदद से इसे कभी-कभी हिलाते रहें। जब नारियल तेल जलकर आधा हो जाए और नींबू का पेस्ट काला हो जाए तो आँच बंद कर दें। इस तेल को तब तक सुरक्षित स्थान पर रखें जब तक यह पूरी तरह से ठंडा न हो जाए। तेल के ठंडा होने के बाद, इसे किसी सीसी या बोतल में भर दें, ध्यान रहें कि बर्तन का मुंह चौड़ा होना चाहिए क्योंकि ठंडे स्थान पर रखने पर नारियल का तेल जम जाता है, जिससे इसे उंगलियों की मदद से निकालने में परेशानी होती है।
Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Apani Rasoi
Top