Saturday, 28 Mar, 12.30 pm अपनी रसोई

होम
कोरोना की तबाही: महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या हुई 180, मौत की संख्या भी बढ़ रही तेजी से

कोरोनावायर कई प्रकार के विषाणुओं (वायरस) का एक समूह है जो स्तनधारियों और पक्षियों में रोग उत्पन्न करता है। यह आरएनए वायरस होते हैं। इनके कारण मानवों में श्वास तंत्र संक्रमण पैदा हो सकता है जिसकी गहनता हल्की (जैसे सर्दी-जुकाम) से लेकर अति गम्भीर (जैसे, मृत्यु) तक हो सकती है।गाय और सूअर में इनके कारन अतिसार हो सकता है जबकि इनके कारण मुर्गियों के ऊपरी श्वास तंत्र के रोग उत्पन्न हो सकते हैं। इनकी रोकथाम के लिए कोई टीका (वैक्सीन) या विषाणुरोधी अभी उपलब्ध नहीं है और उपचार के लिए प्राणी की अपने प्रतिरक्षा प्रणाली पर निर्भर करता है। अभी तक रोगलक्षणों (जैसे कि निर्जलीकरण या डीहाइड्रेशन, ज्वर, आदि) का उपचार किया जाता है ताकि संक्रमण से लड़ते हुए शरीर की शक्ति बनी रहे। भारत में कोरोना वायरस (Covid-19) के मामले शनिवार को बढ़कर 873 पर पहुंच गए। भारत में कोविड-19 से संक्रमण के कारण 19 लोगों की मौत हो गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपने ताजा आंकड़ों में दो और लोगों की मौत होने की जानकारी दी है। भारत में अब तक कोरोना वायरस से पीड़ित लोगों में 79 लोगों का इलाज किया जा चुका है।
इन राज्यों में हुई मौतें
महाराष्ट्र में पांच, गुजरात में तीन, कर्नाटक में दो, मध्य प्रदेश में दो और तमिलनाडु, बिहार, पंजाब, दिल्ली, पश्चिम बंगाल, जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है।
महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 180 मामले
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार महाराष्ट्र में 180 कोरोना वायरस के मरीज मिले हैं। राज्य में 177 भारतीय नागरिक और तीन विदेशी कोविड-19 से संक्रमित हैं। महाराष्ट्र में अब तक पांच मौतें हुई हैं जबकि 25 लोगों का सफल इलाज किया जा चुका है। शनिवार (28 मार्च) को महाराष्ट्र में छह और लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पु्ष्टि हुई है।
महाराष्ट्र स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि कोविड-19 के छह नये मरीजों में से पांच मुंबई से और एक नागपुर से है। अधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार को राज्य के विभिन्न हिस्सों में 28 व्यक्ति कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए।
(नोट: भारत में कोरोना वायरस से 826 भारतीय नागरिक जबकि 47 विदेशी नागरिक को पीड़ित पाया गया है.)
लॉकडाउन में फंसे तो घबराएं नहीं, इन हेल्पलाइन नंबरों पर तुरंत करें कॉल
कोरोना वायरस संकट से पूरी दुनिया के साथ ही भारत भी जूझ रहा है। कोरोना वायरस (कोविड-19) के प्रसार को रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरे भारत में 21 दिन लॉकडाउन घोषित किया है। ये लॉकडाउन 14 अप्रैल 2020 तक चलेगा। लॉकडाउन के मद्देनजर लोगों को जो परेशानियां आ रही हैं उसके मद्देनजर केंद्र के अलावा हर राज्य ने हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। अगर आप कोरोना वायरस संकट के चलते किसी मदद की आस रखते हैं तो हेल्पलाइन नंबरों के जरिए केंद्र/राज्य सरकारों से संपर्क कर सकते हैं।
मदद के लिए इन हेल्पलाइनों पर करें कॉल
नेशनल हेल्पलाइन नंबर- 91-11-23978046
टोल फ्री नंबर-1075
आंध्र प्रदेश-08662410978
अरुणाचल प्रदेश-9436055743
असम-6913347770
बिहार-104
छत्तीसगढ़-07712235091
गोवा-104
गुजरात-104
हरियाणा-8558893911
हिमाचल प्रदेश-104
झारखंड-104
कर्नाटक-104
केरल-0471-2552056
मध्य प्रदेश-0755-2527177
महाराष्ट्र-020-26127394
मणिपुर- 3852411668
मेघालय-108
मिजोरम-102
नागालैंड-7005539653
ओडिशा-9439994859
पंजाब-104
राजस्थान-0141-2225624
सिक्किम-104
तमिलनाडु-044-29510500
तेलंगाना-104
त्रिपुरा-0381-2315879
उत्तराखंड-104
उत्तर प्रदेश-18001805145
पश्चिम बंगाल-033-23412600
अंडमान-निकोबार-03192-232102
चंडीगढ़-9779558282
दादर-नगर हवेली-104
दिल्ली-01122307154
जम्मू-01912520982
कश्मीर-01942440283
लद्दाख-01982256462
लक्षद्वीप-104
पुडुचेरी-104
Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Apani Rasoi
Top