Thursday, 27 Feb, 11.12 am Asiaville

क्राइम
बिहार में प्रशांत किशोर के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज, जानिए- क्या है पूरा मामला

राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर के खिलाफ कथित साहित्यिक चोरी के मामले में पटना में केस दर्ज हुआ है. एएनआई के ट्वीट के मुताबिक, उनके ऊपर आईपीसी की धारा 420 और 406 (आईपीसी के आपराधिक उल्लंघन के लिए सजा) के तहत एफआईआर दर्ज किया गया है.

प्रशांत किशोर के खिलाफ शिकायत मोतिहारी निवासी शाश्वत गौतम ने दर्ज कराई थी. शिकायतकर्ता ने पीके पर 'बात बिहार की' कंटेंट के नकल का आरोप लगाया है.

दरअसल, आरोप है कि शाश्वत नाम के एक युवक ने 'बिहार की बात' नाम का एक प्रोजेक्ट बनाया था. इस प्रोजेक्ट को आने वाले दिनों में लांच करने की बात चल रही थी. इसी बीच ओसामा नामक किसी शख्स ने शाश्वत के यहां से इस्तीफा दे दिया और बिहार की बात का सारा कंटेंट उसने प्रशांत किशोर को दे दिया. खबर यह भी है कि शिकायतकर्ता शाश्वत पहले कांग्रेस के लिए चुनावों के दौरान काम कर चुके है.

बता दें, नीतीश की पार्टी का हिस्सा रहे प्रशांत किशोर की राहें अब जुदा हो चुकी हैं. वे अब बिहार में राजनीतिक कार्यकर्ता के तौर पर काम करने की बात कह रहे हैं. वैसे चुनावी रणनीतिकार के तौर पर कई राजनीतिक दलों के साथ काम कर चुके प्रशांत किशोर प्रदेश के युवाओं को जोड़ने के लिए 'बात बिहार की' नाम से एक कैंपेन की शुरुआत कर चुके हैं. किशोर इस कैंपेन में 10 लाख युवाओं को जोड़ने जा रहे हैं.

पीके के 'बात बिहार की' कार्यक्रम की शुरुआत उन लोगों के रजिस्ट्रेशन के साथ हो चुकी है जो कार्यक्रम से जुड़कर, समान विचारधारा वाले लोगों के एक ऐसे समूह का हिस्सा बनना चाहते हैं. इसके साथ ही पटना में कई अहम कार्यक्रम भी प्रस्तावित हैं.

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Asia Ville Hindi
Top