Wednesday, 28 Oct, 7.50 pm बेबाक Post

देश
लद्दाख को चीन का हिस्सा दिखाने पर संसदीय समिति ने जताया कड़ा एतराज

डेटा प्रोटेक्शन (Data Protection) पर संसद की संयुक्त समिति ने ट्वीटर (Twitter) के अधिकारियों से 2 घंटे पूछताछ की. समिति ने यूजर्स के डेटा सुरक्षा और पब्लिक डेटा प्रोटेक्शन से संबंधित तमाम प्रश्न किये. सूत्रों के मुताबिक समिति ने ट्विटर द्वारा लद्दाख के क्षेत्र को चीन का हिस्सा दिखाने पर कड़ा एतराज जताते हुए उनसे ऐसा करने की वजह पूछी. जिसके जवाब में ट्विटर ने समिति से कहा, 'हम इस मसले पर इंडियन सेंसिटिविटी को समझते है, सोशल मीडिया कंपनी भारत की भावनाओं का सम्मान करती है'.

संयुक्त समिति (Joint Committee) की अध्यक्ष मीनाक्षी लेखी (Meenakshi Lekhi) ने कहा, लद्दाख (Ladakh) को चीन (China) का हिस्सा दिखाना देश की अखंडता और संप्रभुता के खिलाफ है. उन्होंने कहा, ये एक आपराधिक कृत्य है, जिसमें 7 साल तक की सजा का प्रावधान है'. समिति ने इस मामले में ट्विटर के शीर्ष अधिकारियों से लिखित में स्पष्टीकरण मांगा है.

सोशल मीडिया कंपनी ट्विटर इंडिया की ओर से संयुक्त समिति के सामने वकील आयुषी कपूर, वरिष्ठ प्रबंधक पब्लिक पॉलिसी शगुफ्ता कामरान, कॉरपोरेट सुरक्षा अधिकारी मनविंदर बाली, पॉलिसी संचार अधिकारी पल्लवी वालिया पेश हुए. सूचना, इलेक्ट्रॉनिक्स और प्रौद्योगिकी मंत्रालय तथा कानून एवं न्याय मंत्रालय के अधिकारी भी समिति के सामने पेश हुए

मालूम हो कि कुछ दिन पहले सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक और ट्विटर के शीर्ष अधिकारियों को डेटा संरक्षण और गोपनीयता के मुद्दों के बारे में संयुक्त संसदीय समिति के सामने पेश होने के लिए कहा गया था.

देश, विदेश, बिज़नेस, मनोरंजन और ऐसी सभी ख़बरों से जुड़े रहने के लिए हमारी ऐन्ड्रॉइड ऐप डाउनलोड करें - Bebak Post की App डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Bebak Post Hindi
Top