Wednesday, 31 Jul, 2.13 am बिहार

सिवान
सीवान : ड्रेनेज सिस्‍टम फेल, जगह जगह जलजमाव, गंदगी से हैजा, टाइफाइड, डेंगू रोग फैलने की आशंका

सीवान : शहर के करीब आधे से अधिक मोहल्लों में जलजमाव और कचरे के अंबार लगने के कारण संक्रामक बीमारी फैलने की संभावना तेज हो गयी है. जलजमाव व गंदगी से हैजा, टाइफाइड, डेंगू, पीलिया तथा चर्म रोग फैलने की आशंका बनी हुई है. पिछले साल गंदगी व जलजमाव के कारण ही डेंगू बीमारी ने महामारी का रूप ले लिया था.

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी इस संबंध में नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी से मिलकर फैलने वाली संक्रामक बीमारियों के प्रति आगाह करने की योजना बनायी है. नगर परिषद द्वारा शहर के लोगों की स्वास्थ्य की चिंता कितनी की जाती है?

इस बात का अंदाज इसी से लगाया जा सकता है कि अभी भी शहर के आधे से अधिक क्षेत्र की सड़कों पर जलजमाव की स्थिति ज्यों की त्यों बनी हुयी है. जल-जनित रोगों के फैलने का भी प्रमुख कारण जलजमाव ही है. जिससे हानिकारक बैक्टिरिया तेजी से पनपते हैं. इन रोगों से बचने के लिए आवश्यक है कि दूषित जल व जल-जमाव के प्रति सभी सजगता बरतें.

बोले जिम्मेदार

जलजमाव व गंदगी से कई प्रकार की संक्रामक बीमारियों के फैलने की आशंका बनी रहती है. इसमें लोगों को टायफाइड, मलेरिया, डेंगू, हैजा, पीलिया जैसे संक्रामक बीमारियों से लोग संक्रमित हो सकते है. जल जमाव को दूर करने तथा शहर की सफाई कराने के नगर परिषद को पत्र लिखा जायेगा. सबसे चिंता डेंगू बीमारी फैलने की है.

डॉ. एमआर रंजन, मलेरिया पदाधिकारी, सीवान

जलजनित रोग

विषाणु से : पीलिया, पोलियो, गैस्ट्रोएन्टराइटिस, जुकाम, संक्रामक यकृत, चेचक

जीवाणु से : अतिसार, पेचिश, मियादी बुखार, अतिज्वर, हैजा, कुकुर खांसी, सुजाक, उपदंश, जठरांत्र शोथ, प्रवाहिका, क्षय रोग

प्रोटोजोआ से : पायरिया, पेचिस, निद्रारोग, मलेरिया, अमिबियोसिस रूग्णता, जियार्डियोसिस रूग्णता

कृमि से : फाइलेरिया, हाइडेटिड सिस्ट रोग तथा पेट में विभिन्न प्रकार के कृमि का आ जाना जिसका स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है.

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Bihar
Top