Monday, 01 Jun, 9.15 pm CN24 News Hindi

महाराष्ट्र
महाराष्ट्र में निसर्ग तूफान - कोरोना की मार झेल रहे राज्य के तटीय इलाकों में भारी तूफान की चेतावनी, 6 जिलों में एनडीआरएफ की 9 टीमें तैनात

  • मौसम विभाग के मुताबिक, अरब सागर में दो तूफान बन रहे हैं, इनमें से एक अफ्रीकन तट से ओमान की ओर चला जाएगा
  • इस दौरान 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं, समुद्र में गए मछुआरों को वापस बुला लिया गया है
चक्रवाती तूफान निसर्ग के चलते महाराष्ट्र में भारी बारिश और तेज हवाएं चलने की आशंका है। (फाइल फोटो)

मुंबई. महामारी से जूझ रहे महाराष्ट्र पर अब चक्रवाती तूफान 'निसर्ग' का खतरा भी मंडरा रहा है। मौसम विभाग के मुताबिक, 4 और 5 जून को राज्य में भारी बारिश की आशंका है। निसर्ग 3 जून को गुजरात और महाराष्ट्र के तट पर पहुंचेगा। इस दौरान 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। समुद्र में गए मछुआरों को वापस बुला लिया गया है। इससे पहले तैयारियों के लिए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने सोमवार को नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (एनडीएमए) के अधिकारियों के साथ हाई लेवल मीटिंग की।

अगले 48 घंटों में बढ़ सकती है तीव्रता
मौसम विभाग के मुताबिक, अरब सागर में दो तूफान बन रहे हैं। इनमें से एक अफ्रीकन तट से ओमान की ओर चला जाएगा, जबकि दूसरा तूफान भारत के करीब अरब सागर के साउथ ईस्ट-ईस्ट-सेंट्रल क्षेत्र में तैयार हो रहा है। अगले 48 घंटों में इसकी तीव्रता बढ़ने के आसार हैं। उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ते हुए यह तूफान 3 जून तक गुजरात और उत्तरी महाराष्ट्र के तटों से टकराएगा।

राज्य में 9 टीमें तैनात की गईं
इसको देखते हुए नेशनल डिजास्टर रिस्पांस फोर्स (एनडीआरएफ) की 9 टीमों को महाराष्ट्र के तटीय जिलों में तैनात किया गया है, जिनमें से तीन टीम मुंबई में, दो पालघर में और एक-एक टीम ठाणे, रायगड़, रत्नागिरी और सिंधुदुर्ग में तैनात की गई हैं। एनडीआरएफ की टीमें महाराष्ट्र सरकार, मौसम विभाग और जिलों के प्रशासन से लगातार संपर्क में हैं।

1891 के बाद पहली बार आया इस तरह का तूफान

मौसम विभाग के साइक्लोन ई-एटलस के मुताबिक- 1891 के बाद पहली बार अरब सागर में महाराष्ट्र के तटीय इलाके के आसपास समुद्री तूफान की स्थिति बन रही है। एक अंग्रेजी अखबार ने मौसम विज्ञानी अक्षय देवरस के हवाले से लिखा है कि इससे पहले 1948 और 1980 में दो बार इस तरह का दवाब (डिब्रेशन) बना था और तूफान आने की स्थिति बनी थी लेकिन बाद में स्थिति टल गई थी। दो जून दोपहर के बाद से तीन जून तक महाराष्ट्र में काफी तेज गति से हवाएं चलने और भारी बारिश की संभावना है।

मौसम विभाग की ओर से इस तूफान को लेकर चेतावनी जारी की गई है

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: CN24 News Hindi
Top
// // // // $find_pos = strpos(SERVER_PROTOCOL, "https"); $comUrlSeg = ($find_pos !== false ? "s" : ""); ?>