Tuesday, 31 Mar, 10.16 pm दैनिक किरण

हेडलाइंस
सरकार ने लोगों पर फोड़ा कोरोना का ठीकरा, कहा- समर्थन न मिलने से बढ़ रहे केस

नई दिल्ली (New Delhi) . देश में महामारी कोरोना (Corona virus) के केस लगातार बढ़ रहे हैं. कोरोना मरीजों की संख्या 1400 पार चली गई है, जबकि 41 लोगों की मौत हो चुकी है. कोरोना के मरीजों की संख्या में हो रहे इजाफे के लिए सरकार (Government) ने लोगों को ही जिम्मेदार ठहराया है. स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने मंगलवार (Tuesday) को प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए बताया कि कोरोना से लड़ाई के लिए हम सबको साथ आना होगा. हमें साथ लड़ना होगा.

उन्होंने कहा कि लोगों का समर्थन नहीं मिलने से मामले बढ़ रहे हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल का कहना है कि कुछ जगहों पर लोगों का समर्थन नहीं मिलने से ये केस बढ़ें हैं. कोरोना (Corona virus) के खिलाफ लड़ाई में हम तभी सफल होंगे जब सबका समर्थन मिलेगा. उन्होंने कहा कि लोग लॉकडाउन (Lockdown) का समर्थन करें तभी लड़ाई में सफलता मिलेगी. उन्होंने कहा कि कोरोना के बाबत पीएम मोदी ने दुनियाभर में मौजूद भारत के राजदूतों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बातचीत की है. कोरोना के लेकर आज ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स की भी बैठक आयोजित की गई जिसमें कोविड-19 (Kovid-19) डेडिकेटेड अस्पतालों को जल्द से जल्द फंक्शनल बनाने पर चर्चा की गई.

उन्होंने कहा कि विदेश मंत्रालय ने देश में रसद वस्तुओं की उपलब्धता बढ़ाने के लिए दक्षिण कोरिया, तुर्की और वियतनाम के आपूर्तिकर्ताओं को आइडेंटिफाई किया है. एन-95 मास्क की आपूर्ति बढ़ाने के लिए डीआरडीओ स्थानीय निर्माताओं के साथ मिलकर काम कर रहा है. लव अग्रवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार (Government) ने जिलाधिकारियों, नगर निगमों और पुलिस (Police) को महामारी रोग अधिनियम के तहत उन मामलों की जांच करने का आदेश जारी किया है, जहां मकान मालिक डॉक्टरों (Doctors) और नर्सों को कमरा खाली करने के लिए मजबूर कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार (Government) ने जिलाधिकारियों, नगर निगमों और पुलिस (Police) को महामारी रोग अधिनियम के तहत उन मामलों की जांच करने का आदेश जारी किया है, जहां मकान मालिक डॉक्टरों (Doctors) और नर्सों को कमरा खाली करने के लिए मजबूर कर रहे हैं.

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Dainik Kiran
Top