Tuesday, 04 Aug, 10.42 pm Girls Globe

खेल
आईपीएल के हर 5वें दिन खिलाड़ियों और स्टाफ का टेस्ट होगा, विदेशी प्लेयर्स दो निगेटिव रिपोर्ट के बाद यूएई पहुंचकर टीम से जुड़ सकेंगे

यूएई में 19 सितंबर से 10 नवंबर तक होने वाले आईपीएल को लेकर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने ड्राफ्ट तैयार किया है। इसके मुताबिक, टूर्नामेंट के हर 5वें दिन खिलाड़ियों और स्टाफ का कोरोना टेस्ट होगा। वहीं विदेशी खिलाड़ी दो टेस्ट निगेटिव आने के बाद ही यूएई में टीम के साथ जुड़ सकेंगे। जबकि भारतीय खिलाड़ी और सहयोगी स्टाफ को 5 टेस्ट निगेटिव आने के बाद ही यूएई में ट्रेनिंग की अनुमति मिलेगी।

बीसीसीआई सूत्र ने न्यूज एजेंसी को बताया कि सभी भारतीय खिलाड़ियों और सहयोगी स्टाफ को भारत में अपनी-अपनी टीमों के साथ 14 दिन क्वारैंटाइन रहना होगा। इससे एक हफ्ते पहले सभी खिलाड़ियों को 24 घंटे में दो टेस्ट कराने होंगे। जबकि विदेशी खिलाड़ियों को भी यूएई में आने से पहले 14 दिन क्वारैंटाइन में रहना होगा और दो निगेटिव रिपोर्ट आने के बाद ही वह यूएई के लिए रवाना हो सकेंगे।

यूएई में 7 दिन क्वारैंटाइन रहना होगा
यूएई में खिलाड़ियों और सहयोगी स्टाफ को ट्रेनिंग में शामिल होने से पहले 7 दिन क्वारैंटाइन रहना होगा। इस दौरान कोई भी होटल में एक-दूसरे से नहीं मिल सकेगा। इस दौरान पहले, तीसरे और छठे दिन सभी का कोरोना टेस्ट होगा। तीन निगेटिव रिपोर्ट आने के बाद ही वे बायो-सिक्योर माहौल में एंट्री और ट्रेनिंग कर सकेंगे।

20 अगस्त से पहले यूएई नहीं जा सकेंगी टीमें
बीसीसीआई ने सभी टीमों को 20 अगस्त के बाद ही यूएई जाने की अनुमति दी है। ताकि अगर यूएई सरकार की ओर से कोरोना को लेकर कोई नई गाइडलाइंस दी जाती है तो उसका पालन हो सके। मुंबई इंडियंस के प्लेयर एक हफ्ते के अंदर टीम से जुड़ जाएंगे।

खिलाड़ियों को परिवार साथ ले जाने की मंजूरी फ्रेंचाइजी देगी
खिलाड़ी अपने साथ परिवार को लेकर जा सकते हैं या नहीं, यह फैसला फ्रेंचाइजी ही कर सकती हैं। यदि परिवार साथ जाता है, तो उन्हें भी सख्त प्रोटोकॉल का पालन करना होगा। परिवारों को भी बायो-सिक्योर माहौल के बाहर किसी से मिलने की अनुमति नहीं होगी। साथ ही अन्य खिलाड़ियों और उनके परिवारों से बातचीत के दौरान मास्क लगाना होगा और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा।

वहीं उन्हें ट्रेनिंग और मैच के दौरान स्टेडियम में प्रवेश की अनुमति नहीं होगी। बायो-सिक्योर माहौल का उल्लंघन करने पर उन्हें 7 दिनों के लिए क्वारैंटाइन रहना होगा। छठे और सातवें दिन कोरोना टेस्ट होगा। टेस्ट निगेटिव आने के बाद ही वे वापस बायो-सिक्योर माहौल में लौट सेकेंगे।

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Girls Globe Hindi
Top