Saturday, 01 Sep, 12.35 pm हिंदी समाचार

मनोरंजन
नवजात शिशु की आंखों में काजल लगाने से पहले पढ़ लें ये ख़बर

भारत में आंखों में काजल लगाने का विशेष महत्व है। बड़े हो या बच्चे काजल हर कोई लगाता है। बच्चों को सुंदर दिखाने के लिए और उन्हें नजर से बचाने के लिए अधिकतर मां उनको काजल लगाती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि बच्चों की आंखों में काजल लगाने से उनकी सेहत को नुकसान पहुंच सकता है, इसके साथ ही ये बच्चों की आंखों को भी नुकसान पहुंचाता है। आज हम आपको इसी के बारे में बताने जा रहे हैं।

बच्चों की आंखों में काजल लगाना फायदेमंद या नुकसानदायक


आंखें शरीर का सबसे संवेदनशील अंग है। वहीं, बच्चों की आंखें तो वैसे भी बहुत नाजुक होता है। आंखों के अंदर काजल चले जाने से बच्चों की आंखों में जलन की समस्या पैदा हो जाती है। वहीं, नहाते समय बच्चों के कानों में भी काजल चली जाती है। इससे ये नुकसान होता है कि उनके छोटे-छोटे रोमछिद्रों बंद हो जाते हैं। इससे बच्चों को इंफ्केश का खतरा हो जाता है। इसके अलावा कई अन्य समस्याएं भी पैदा हो जाती है।

संक्रमण
काजल लगाने से बच्चों की आंखों से पानी बहना शुरू हो जाता है। लगातार बह रहें पानी से उनको इंफैक्शन होने का खतरा बना रहता है।

खुजली
बच्चे को रोजाना काजल लगाने से वह उसकी आंखों पर जमने लगता है। काजल के जमने से शिशु की आंखों में खुजली होने लगती है। बच्चे की आंखों को हैल्दी रखने के लिए रोजाना काजल लगाने से बचें।

दिमाग को नुकसान
बाजार में मिलने वाले काजल में बहुत ज्यादा मात्रा में लेड होते हैं जो बच्चों के दिमाग को नुकसान पहुंचाता है। ऐसे में बच्चे के दिमागी विकास के लिए काजल लगाने से बचें।

ड्राई आंखे
बच्चे को काजल लगाने के बाद अगर वह अपनी आंखों को मलना शुरू कर देते है तो इसका मतलब है कि उसको आंखों में जलन हो रही है। जब भी आपका लाडला ऐसा करने तो तुरंत उसकी आंखों से काजल पोंछ दें।

घर में बना काजल होता है सही
यदि आप बच्चों को काजल लगाना ही चाहती है तो आप काजल को घर पर बनाएं। दरअसल, बाजार का काजल इतना अच्छा नहीं होता, जितना कि घर का बना काजल होता है। इसके अलावा आपको साफ-सफाई का भी विशेष ध्यान रखना पड़ता है।

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Hindi Khabar
Top