Friday, 14 Aug, 1.34 pm Janman TV

जनमन tv
अर्णब गोस्वामी के चैनल के रिपोर्टर ने की खुदकुशी, छोड़ गया 4 पेज का सुसाइड नोट

पत्रकारों की एक के बाद एक आत्महत्या की खबरें कोरोना के बाद से बहुत आ रही हैं। आज 13 अगस्त की सुबह ही रांची में PTI के सीनियर पत्रकार पीवी रामानुजम ने आत्महत्या की है और उसके बाद एक और पत्रकार की आत्महत्या की यह दूसरी खबर है। वाराणसी में एक टीवी चैनल से जुड़े युवा पत्रकार रोहित श्रीवास्तव ने आत्महत्या कर ली है।

रोहित श्रीवास्तव पुत्र अशोक श्रीवास्तव 5 वर्षों से सिगरा थाना क्षेत्र के रघुवर नगर कालोनी में किराए के मकान में रहते थे। 8 अगस्त को उनके बड़े भाई गौरव श्रीवास्तव ने सिगरा थाना में उनकी गुमशुदगी का मामला दर्ज कराया था, जिसमें कहा गया कि वो 4 अगस्त से ही गायब हैं। हर सम्भावित ठिकानों पर छानबीन करने के पश्चात भी पुलिस खाली हाथ रही। बुधवार 12 अगस्त को सूचना मिली कि विश्वसुंदरी पुल से कूदकर रोहित ने आत्महत्या करने का प्रयास किया है। मल्लाहों एवं गोताखोरों की मदद से युवक को बाहर निकालकर बीएचयू ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया। गुरुवार 13 अगस्त को इलाज के दौरान रोहित की मौत हो गयी।

4 पेज के सुसाइड नोट में रोहित ने परिवार, दोस्तों और उनके साथ लिव इन रिलेशन में रह रही अपनी महिला मित्र का जिक्र भी किया है। जहां परिवार वाले उनकी महिला मित्र की भूमिका पर सवाल उठा रहे हैं, वहीं सुसाइड नोट में रोहित ने उसे बहुत अच्छा बताया है।

दूसरी तरफ 4 अगस्त को रोहित के गायब होने के बाद से उनका फेसबुक उनकी महिला मित्र लगातार आपरेट कर रही थी। रोहित के फेसबुक अकाउंट पर उसकी गर्लफ्रेंड ने बाकायदा यह लिखकर बताया कि वह इसे यूज कर रही है। इन पोस्टों में रोहित के कुछ पर्सनल फोटो भी शेयर किए गए थे। इसके साथ ही इन पोस्ट में रोहित को फ्रॉड भी बताया था।

मीडिया में आई जानकारी के मुताबिक लॉकडाउन के दौरान रोहित ने अपने किसी मित्र के कहने पर तथाकथित रूप से दिल्ली से वाराणसी आई एक युवती को अपने फ्लैट में रहने की जगह दी हुई थी। वो उस लड़की के साथ तब से लिव इन रिलेशनशिप में रह रहे थे।

रोहित पिछले कुछ दिनों से लापता चल रहे थे। उनके परिजनों ने इस संबंध में पुलिस के पास मामला भी दर्ज कराया था। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि रोहित ने आत्महत्या की है या फिर उसकी हत्या की गयी है। लापता होने के बाद अचानक इस तरह नदी में कूदने की बात लोगों के गले से नहीं उतर रही। परिजन इस मामले में पुलिस से उच्चस्तरीय जांच की मांग कर रहे हैं।

11 अगस्त को उनके फेसबुक पर उनकी गर्लफ्रेंड ने रोहित के कुछ ऐसी फोटो शेयर कीं, जिसे देखकर उनके दोस्तों को हैरानी हुई। उनके साथ लिव इन में रह रही लड़की उनका मोबाइल इस्तेमाल कर रहा था। युवती ने रोहित के मोबाइल से पहला पोस्ट 10 तारीख को डाला था जिसमें उसने रोहित पर गबन लगाया था, वहीं आपत्तिजनक फोटो को जो उनके फेसबुक पर उस युवती ने डाला था, उसको देखते ही उनके दोस्तों और परिजनों ने रोहित को लगातार फोन करने लगे, लेकिन किसी ने भी फोन नहीं उठाया।

इस पूरे मामले में सवालिया निशान भी उठता है कि जब 4 अगस्त से रोहित लापता थे तो उनका मोबाइल ये युवती लगातार कैसे चला रही थी। आखिर परिजनों द्वारा गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवायी गयी थी तो पुलिस क्या कर रही थी।

रोहित श्रीवास्तव आत्महत्या मामले की जांच कर रहे एसपी सिटी विकास चंद्र त्रिपाठी ने बताया, हम रिपब्लिक भारत के पत्रकार की आत्महत्या मामले की पड़ताल कर रहे हैं। उनके पास से एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है, जिसमें उन्होंने लिखा है कि उन्होंने काफी लोगों से कर्ज ले रखा था, जिसे न चुका पाने के कारण वह तनाव में थे। इसके अलावा उन्होंने अपनी कुछ अन्य परेशानियों का भी जिक्र किया है और लिखा है कि इन सब तनावों को न झेल पाने के कारण वह आत्महत्या कर रहे हैं।'

एसपी सिटी बताते हैं, 'इस ​संबंध में उनके साथ रह रही युवती ने भी रोहित के खिलाफ एक शिकायत दी है और परिजनों ने पहले ही रोहित की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवायी थी।' जब मीडिया ने उनसे यह जानना चाहा कि परिजनों द्वारा एफआईआर दर्ज करवाने के बावजूद पुलिस उन्हें क्यों नहीं ढूंढ़ पायी, तो एसपी सिटी ने मीटिंग में हूं कहते हुए फोन काट दिया।

रोहित आत्महत्या मामले में वाराणसी के एसएसपी अमित पाठक ने पत्रकारों को बताया कि उनके फ्लैट में जो युवती रहती थी, उसने अपने वकील के साथ आज उनसे मिलकर प्रार्थना पत्र दिया है, जिसमें युवती ने रोहित पर फ्रॉडगिरी और शारीरिक शोषण का आरोप लगाया है। इसके साथ रोहित का वह मोबाइल जो इस युवती ने अपने कब्जे में ले रखा था, उसको भी एसएसपी को दे दिया।

एसएसपी के मुताबिक मृतक रोहित के इस मोबाइल में बहुत कुछ राज छिपे हो सकते हैं। इस मामले की उच्स्तरीय जांच कराकर सच्चाई को सामने लाया जायेगा और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। क्षेत्राधिकारी चेतगंज अनिल कुमार कहते हैं कि रोहित के पास से 4 पन्ने का एक सुसाइड नोट मिला है। इस पूरे प्रकरण की जांच की जा रही है।

रोहित श्रीवास्तव की आत्महत्या की खबर साझा करते हुए सोशल मीडिया पर समर अनार्य ने लिखा है, 'रिपब्लिक टीवी के पत्रकार रोहित श्रीवास्तव की आत्महत्या से मौत। शर्त लगायेंगे कि हत्या है या आत्महत्या, जो भी है पीछे कौन है, कहीं रिपब्लिक ही तो नहीं, लॉकडाउन में वेतन ना देकर अर्नब गोस्वामी उन्हें स्टाफ़ मानने से भी इनकार कर देगा, बोलेगा ऐसे ही स्ट्रिंगर था?'

news98 में प्रकाशित खबर के मुताबिक, 'सुसाइड नोट में रोहित ने अपनी बहन के बारे में लिखा था कि वह इस बार उसे राखी नहीं बांध पायी। अपने माँ, पिता और चाची के बारे में भी लिखा है कि मैं आप लोगों को संतुष्ट नहीं कर पाऊँगा। एक मित्र का जिक्र करते हुए लिखा है कि मुझ पर आपके कई कर्ज थे, जो अब किसी भी तरह से चुकाने में सक्षम नहीं हो सकते। जिस महिला के साथ वह लिव इन में रह रहे थे उसके बारे में लिखा है कि मेरे बारे में सबकुछ जानते हुए भी तुम मेरे साथ रही। तुम्हारी जैसी साथी मिलना बहुत मुश्किल था। तुमने मेरी हर पल बहुत मदद की। रोहित ने सुसाइड नोट में किसी गुरु जी का भी उल्लेख किया है, जिसने रोहित को कहा था कि वह सिर्फ 35 साल तक जिंदा रहेगा।'

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Janman TV
Top