Friday, 24 Aug, 1.23 am Kalam Times

न्यूज़
क्यों गरजते हैं बादल..? क्यों चमकती है बिजली..? जानिए...!

इंटरनेट डेस्क। आकाश में चमकने वाली बिजली इलेक्ट्रिक डिस्चार्ज द्वारा उत्पन्न एक फ़्लैश यानी तेज रौशनी होती है। आपने घर में या बाहर बिजली की तारों में उत्पन्न छोटी चिंगारी तो देखी होगी। आकाश की बिजली भी इसी चिंगारी की तरह होती है बस फर्क सिर्फ ये होता हैं कि यह चमकने वाली बिजली बड़े पैमाने की होती है।

बिजली कैसे पैदा होती है ?

बादलों में नमी होती है। यह नमी बादलों में जल के बहुत बारीक कणों या फिर बर्फ के क्रिस्टल्स के रूप में होते हैं। जब हवा और इन जलकणों के बीच घर्षण होता है तो इस घर्षण से जलकण आवेशित हो जाते हैं। बादलों के कुछ समूह धनात्मक तो कुछ रित्नामक आवेशित होते हैं। धनात्मक और रित्नामातक आवेशित बादल जब एक-दुसरे के समीप आते हैं तो टकराने से अति उच्च शक्ति की बिजली उत्पन्न होती है।

बिजली चमकने के बाद ही बादल क्यों गरजते हैं ?
विद्युत धारा के प्रवाहित होने से रौशनी की तेज चमक पैदा होती है. आकाश में यह चमक अक्सर दो-तिन किलोमीटर की ऊंचाई पर ही उत्पन्न होती है। इस चमक के उत्पन्न होने के बाद हमें बादलों की गरज भी सुनाई देती है।

हवा में प्रवाहित विद्युत धरा से बहुत गर्मी पैदा होती है। जब हवा में गर्मी आती है तो यह अत्यधिक तेजी से फैलने लगती है। और इसके लाखों करोड़ अणु आपस में टकराते हैं। इन अणुओं के आपस में टकराने से ही गरज की आवाज उत्पन्न होती है। प्रकाश की गति अधिक होने से बिजली की चमक हमें पहले दिखाई देती हैध्वनिकी गति प्रकश की गति से कम है इसलिए बादलों की गरज हमें देर से सुनाई देती है।


Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Kalam Times
Top