Tuesday, 19 Nov, 8.05 pm Kalyan Ayurved

स्त्रीरोग
गर्भ गिराने के आसान घरेलू उपाय

कल्याण आयुर्वेद- हर महिला के लिए सबसे बड़ी खुशी का कारण प्रेगनेंसी होती है. लेकिन अगर यह प्रेगनेंसी बिना तैयारी के आ जाए तो परेशानी का कारण बन जाती है. अगर आप भी इसी वजह से परेशान है तो अब आपको परेशान होने की जरुरत नहीं है क्योंकि आज हम आपको कुछ ऐसे घरेलू उपाय बतायंगे जिनकी मदद से आप 1 से 3 महीने तक का गर्भ गिराया जा सकता है.

पहले या दुसरे हफ्ते की प्रेगनेंसी में ब्लीडिंग हो जाने पर यह साफ़ हो जाता है कि आपका गर्भपात हो गया है. लेकिन इस स्थिति में भी डॉक्टर से परामर्श लेना जरुरी होता है. इसके अतिरिक्त आजकल दो महीने तक की प्रेगनेंसी से निजात पाने के लिए एबॉर्शन पिल्स भी मौजूद है जिनका इस्तेमाल किया जा सकता है. लेकिन इनका इस्तेमाल करने से पूर्व एक बार डॉक्टर से राय ले लेनी चाहिए. लेकिन अगर आपका गर्भ तीन महीने का हो गया है तो इससे निजात पाने के लिए आपको डॉक्टर द्वारा बताएं गए ट्रीटमेंट ही करवाने होंगे. इस स्थिति में अगर आप घरेलू उपाय का इस्तेमाल करती है तो ब्लीडिंग तो हो जाती है लेकिन सही तरीके से गर्भपात न होने के कारण हो सकता है आपने गर्भाशय में कुछ टिश्यू रह जाएं जो की बाद में आपके लिए समस्या खड़ी कर सकते है.

1 महीने से 10-15 दिन का गर्भ गिराने के तरीके-
1. बबूल के पत्ते-
अगर आपकी प्रेगनेंसी 1 महीने से 15 दिन तक की है तो उसके लिए बबूल के पत्तों का इस्तेमाल किया जा सकता है. इसके लिए 8 से 10 बबूल के पत्ते लें और उन्हें एक ग्लास पानी में उबाल लें. पत्तों को तब तक उबालें जब तक पानी आधा न रह जाए. अब इस पानी को ब्लीडिंग शुरू होने तक दिन में 4 से 5 बार पियें. गर्भ अपने आप गिर जाएगा.

2. विटामिन सी युक्त खाद्य पदार्थ-
विटामिन सी खाद्य पदार्थों का अधिक सेवन करने से भी प्रेगनेंसी को हानि होती है. इसलिए गर्भवती महिलाओं को विटामिन सी का सेवन नहीं करने की सलाह दी जाती है. अगर आपकी प्रेगनेंसी अभी- अभी शुरू हुई है तो आपको विटामिन सी युक्त खाद्य पदार्थों का अधिक सेवन करना चाहिए. इसके लिए आप कटहल, पपीता, कच्चा पपीता, संतरा, अनानास आदि का सेवन कर सकती है.

3. भुने हुए तिल-
तिल की तासीर बहुत गर्म होती है और अनचाहे गर्भ से निजात पाने के लिए गर्म तासीर वाले भोजन की आवश्यकता होती है. जिसके लिए आप तिल का इस्तेमाल कर सकते है. इसके लिए थोड़े से तिल भुन लें और उसमे दो से तीन चम्मच दिन में 4 बार सेवन करें. इससे आपको जल्द फायदा मिलेगा.

4. भागदौड़ और व्यायाम-
बहुत अधिक भागदौड़ और व्यायाम करने से भी शुरुवाती दिनों का गर्भ गिर जाता है. इसके लिए आप सीढियाँ चढ़ना, भारी सामान उठाना, पेट के बल काम करना आदि जैसी गतिविधियाँ कर सकती है. ये आपका गर्भपात कराने में मदद कर सकती है.

5. सोयाबीन-
सोयाबीन में कुछ ऐसे तत्व पाए जाते है जो गर्भ ठहरने नहीं देते. इसके लिए रात के समय में थोड़े से सोयाबीन के दानें पानी में भिगोकर रख दें. सुबह जागकर खाली पेट इन्हें चबाकर खाएं. इससे गर्भपात के चांसेस बढ़ जाएंगे.

6. सीताफल के बीज-
इन बीजों का सेवन करने से भी गर्भ से निजात पाने में मदद मिलती है. इसके लिए सीताफल के बीजों को पीसकर पेस्ट बना लें. अब इस पेस्ट को प्राइवेट पार्ट में लगाएं. ऐसा तब तक करें जब तक ब्लीडिंग न हो जाए.

7. एस्पिरिन-
एस्पिरिन की गोलिया भी गर्भ गिराने में आपकी मदद कर सकती है. इसके लिए रोजाना 4 से 10 एस्पिरिन की गोलियां खाएं, उपाय के बेहतर परिणामों के लिए एस्पिरिन के साथ लौंग, काफी, पार्सले, अदरक और अंजीर का सेवन भी करें. मासिक धर्म अपने आप आने लगेंगे.

दो महीने का गर्भ गिराने के तरीके-
अगर आपका गर्भ 2 महीने तक है तो इस स्थिति में आपको डॉक्टर से सलाह लेनी होगी. वैसे तो इसके लिए बहुत सी दवाएं मार्केट में मौजूद है लेकिन बिना सलाह के इनका इस्तेमाल करना हानिकारक हो सकता है. इसके अलावा ब्लीडिंग होने के बाद भी डॉक्टर से जाँच जरुर करवानी चाहिए ताकि भविष्य में किसी तरह की कोई परेशानी न हो.

तीन माह का गर्भ गिराने के तरीके-
इस स्थिति में आपको केवल डॉक्टर की सलाह ही लेनी चाहिए और डॉक्टर की अनुमति से ही गर्भपात करवाना चाहिए. क्योंकि तीन माह के गर्भ का घरेलू उपाय से गर्भपात करना ठीक नहीं होगा. क्योंकि इस समय तक बच्चा थोडा विकसित हो चुका होता है. इसलिए इस समय में डॉक्टर से सलाह लेकर सही तरीके से ही गर्भपात कराएं.
नोट- यह पोस्ट आपकी जानकारी के लिए है किसी भी प्रयोग से पहले डॉक्टर से सलाह जरुर लें.

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Kalyan Ayurved
Top