Tuesday, 21 Nov, 4.35 am

हेल्थ
इन 5 तरीकों के योगासन को करके तुरंत घटा सकतें है आपका वजन

वजन घटाने के लिए संतुलित खान-पान के साथ ही वजन घटाने वाले व्यायाम करना भी जरूरी होता है। वजन घटाने के लिए योग को सबसे कारगर और सरल तरीका माना जाता है। योग को लेकर सबसे बढि़या बात यह है कि इसे किसी भी उम्र के लोग कर सकते हैं। योग किसी भी उम्र वर्ग के लिए खासा लाभदायक है। गर्भवती महिलाओं को भी कुछ विशेष सावधानियों के साथ योग करने की सलाह दी जाती है। वजन घटाने और फिट रहने के लिए योग काफी कारगर है और इससे तनाव का स्तर घटने के साथ व्यक्ति का आत्मविश्वास भी बढ़ता है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं ऐसे योगासन जिनसे आपका वजन सही नियंत्रित हो जाये।

# नौकासन योग : नौकासन करने के लिए आप सबसे पहले पीठ के बल निचे लेट जाए फिर अपनी एड़ी और पंजे मिलाये और दोनों हाथ भी कमर से सटा कर रखे। अब अपने दोनों पैर, हाथ और गर्दन को धीरे-धीरे एक साथ समानांतर क्रम में ऊपर उठाए। इस अवस्था में शरीर का वजन नितंभ पर आना चाहिए। तीस सेकंड इसी पोज़िशन में रुकने के बाद फिर से पहले वाली पोज़िशन में आये और लेट जाए। इस आसान को चार से पांच बार दोहराये।

# चक्रासन : योग के तहत यह एक अहम आसन है, जिसके जरिये आप अपने पेट को दुरुस्त और संबंधित मसल्स को पूरी तरह ठीक रख सकते हैं। इस आसन में पहले आप पीठ के सहारे लेट जाएं, फिर घुटनों को मोड़ें और अपने पैरों के तलवे को कुछ दूरी बनाकर जमीन पर टिकाकर रखें। फिर अपने हाथों को शरीर की दिशा में ले जाएं। ध्यान रहे कि हथेलियां नीचे की ओर रहे। आप अपने हाथों को मिलाकर साथ रखें और फिर अपने शरीर को उपर की ओर उठाएं।

# बालासन : बालासन योग करने के लिए सबसे पहले आप घुटनों के बल बैठ जाए और ख्याल रहे आप का पूरा वजन एड़ियों पर ही आए। अब आप सांस लेते हुए आगे की और झुक जाये, अब इस अवस्था में आपकी छाती जांघों को छुनी चाहिए और सिर आगे फर्श पर लगना चाहिए। कुछ देर इसी मुद्रा में रहे फिर वापिस आए। इस आसन को पांच से सात बार दोहराए।

# पश्चिमोत्तनासन : पीठ में खिंचाव उत्पन्न होता है, इसीलिए इसे पश्चिमोत्तनासन कहते हैं। इस आसन से शरीर की सभी मांसपेशियों पर खिंचाव पड़ता है। पशिच्मोत्तासन के द्वारा मेरूदंड लचीला व मजबूत बनता है जिससे बुढ़ापे में भी व्यक्ति तनकर चलता है और उसकी रीढ़ की हड्डी झुकती नहीं है। इसके अभ्यास से शरीर की चर्बी कम होकर मोटापा दूर होता है तथा मधुमेह का रोग भी ठीक होता है।

# सेतुबंध : इस योगासन को करने के लिए पहले पीठ के बल लेटे फिर अपने दोनों घुटनों को मोड़ें और पैर की तलियां ज़मीन पर टिकाए। अब अपनी दोनों बाहों को ज़मीन से लगा कर रखे, ध्यान रहे आपकी हथेलियां ज़मीन पर ही टिकी हो। अब सांस छोड़ते हुए अपनी कमर को ज़मीन से ऊपर उठाये और हथेलियां और पैर उसी अवस्था में रहे। अब इस अवस्था में तीस सेकंड तक बने रहे फिर धीरे धीरे नॉर्मल अवस्था में आए।

Dailyhunt
Top