Tuesday, 27 Feb, 11.40 am

होम
35 साल बाद अपने गांव पहुंचे गायक उदित नारायण, सुपौल स्थित नानी गांव में हुआ भव्य स्वागत

PATNA : करीब 35 वर्षो बाद सोमवार को जब विख्यात पार्श्व गायक उदित नारायण अपनी जन्मभूमि (ननिहाल) राघोपुर प्रखंड के बायसी गोठ गांव पहुंचे तो गांव वालों ने उन्हें पलकों पर बिठा लिया। बायसी गांव में गायकजी के नाम से मशहूर उदित नारायण के स्वागत के लिए जनसैलाब उमड़ पड़ा।

बायसी काली स्थान से मोटर साइकिल व गाड़ियों के काफिले के साथ उनको कार्यक्रम स्थल बायसी गोठ लाया गया। उनके स्वागत में सड़क के दोनों ओर लोगों की भीड़ खड़ी थी। लोग फूल-मालाएं पहनाकर उनका स्वागत कर रहे थे। अपराह्न साढ़े तीन बजे पहुंचे उदित अपने चिर-परिचितों के बीच आते ही घुलमिल गए।

कई सालों बाद माटी के लाल को पाकर गांव वाले भी उत्साह से लबरेज दिखे। उनकी एक झलक पाने के लिए महिलाओं की भी खासी भीड़ उमड़ पड़ी। गाड़ी से उतरते ही उन्होंने सबसे पहले जन्मभूमि को प्रणाम किया। इसके बाद यहां आयोजित रूद्र यज्ञ मंडप का प्रदक्षिणा कर आहुति प्रदान की। इसके बाद पंचमुखी हनुमान मंदिर पहुंचे।

जहां उनकी माता भुवनेश्वरी देवी के नाम से संगमरमर की पंचमुखी हनुमानजी को स्थापित की गई थी वहां उन्होंने पूजा अर्चना की। इस दौरान जन्मभूमि पर आने की ़खुशी सा़फ-सा़फ उनके चेहरे पर झलक रही थी।

Dailyhunt
Top