Friday, 27 Mar, 7.01 am Live Samachar

मध्य प्रदेश
हाई रिस्क सिटी घोषित हुआ इंदौर, कोरोना संक्रमण से दूसरी मौत, शहर में 13 पॉजिटिव

इंदौर। मध्यप्रदेश के इंदौर जिले में कोरोना वायरस से संक्रमित एक युवक की आज यहां उपचार के दौरान मृत्यु हो गयी। यह कोरोना से दूसरी मौत है। आधिकारिक जानकारी के अनुसार युवक इंदौर निवासी बताया जा रहा है। जिसे बीते दिनों प्रारम्भिक लक्षण पाये जाने पर भर्ती किया गया था। कल उसके कोरोना संक्रमण होने की पृष्टि हुयीं थी। बताया गया है कि मृतक को कोरोना संक्रमण के साथ अन्य बीमारी भी थी। मृतक की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने के चलते उसे बचाया नही जा सका। इससे पहले कल यहां एक 65 वर्षीय उज्जैन निवासी महिला की मृत्यु हो गयी थी। इस प्रकार इंदौर में कोरोना संक्रमण से होने वाली यह दूसरी मौत है। वर्तमान में यहां 8 संक्रमितों का इलाज किया जा रहा है।

मप्र में कोरोना वायरस से संक्रमित पांच और मरीज मिले हैं, जिसके चलते प्रदेश में इससे प्रभावितों की संख्या बढ़कर 26 हो गई है। स्वास्थ्य विभाग ने इंदौर में गुरुवार तक 70 संदिग्घ मरीजों के सैम्पल जांच के लिए प्रयोगशाला भिजवाए गए। इनमें से गुरुवार दोपहर तक 15 की रिपोर्ट पॉजिटिव आ चुकी है। इनमें 13 लोग इंदौर के और दो लोग उज्जैन के निवासी हैं। इसी बीच गुरुवार को इंदौर में भर्ती 65 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई। यह व्यक्ति इंदौर का ही निवासी है।

सभी मरीजों के परिवार के सदस्यों को आइसोलेशन में रखा गया है। इन घरों के आसपास के पांच किलोमीटर के दायरे को बफर जोन घोषित किया गया है। जबलपुर में छह, भोपाल दो और ग्वालियर तथा शिवपुरी में अब तक एक-एक मरीज मिल चुके हैं। इंदौर जिले के सीएमएचओ प्रवीण जड़िया ने कोरोना से दूसरी मौत की पुष्टि करते हुए बताया कि 65 साल का यह युवक एमवायएच अस्पताल में भर्ती था, जिसकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई थी। इंदौर में पिछले 24 घंटे में मरीजों की संख्या दोगुनी से ज्यादा हो गई है।

प्रशासन सतर्क है, मरीजों के घर से तीन किमी के दायरे को कंटेंटमेंट जोन और पांच किलोमीटर के दायरे को बफर जोन घोषित कर दिया गया है। इंदौर में संक्रमित खातीवाला टैंक निवासी 55 वर्षीय महिला गोकुलदास अस्पताल में भर्ती है। निपानिया में रहने वाला 38 वर्षीय मरीज शैलबी अस्पताल भर्ती है। खजराना की महिला पेशेंट को सुयश अस्पताल में एडमिट कराया गया है। इसके अलावा नए मरीजों को भी विभिन्न अस्पतालों में रखा गया है।

इससे पहले उज्जैन निवासी कोरोना पीडित एक बुजुर्ग महिला ने बुधवार को इंदौर में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया था। इंदौर में तेजी से फैल रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए इसे हाई रिस्क सिटी घोषित किया गया है साथ ही लॉक डाउन में ढील का समय कम कर दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक इंदौर में जो नए मरीज सामने आए हैं,उनमें से कुछ 35 से 40 वर्ष की आयु के भी हैं और उनका विदेश आना-जाना नहीं हुआ है। वे सामूहिक समारोह शादी विवाह में शामिल हुए थे। इंदौर में नए मरीजों के मिलने के बाद खास एहतियात बरती जा रही है। प्रशासन और पुलिस सतर्क हो गए हैं।

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Live Samachar Hindi
Top