Hindi News >> Momspresso Hindi

Momspresso Hindi News

  • होम

    मॉम्स्प्रेस्सो का असर...पति, सास कर रहे हैं सफर (suffer)!!!

    प्रिया ने अपने पति से साफ़-साफ कह दिया," बिना प्रोटेक्शन के मैं हाथ भी नहीं लगाने दूँगी, तुम्हारा तो कुछ नहीं...

    • 2 days ago
  • होम

    अहसास - तुम्हें बढ़ता देख कर, मेरे बच्चे

    ऐसा लगता है मानो कल ही की बात हो ! छोटा सा देव (मेरा बेटा), बड़ा शरारती, एक पल भी शान्ति से न बैठने वाला, हर समय नखरे करना, कभी खाने के लिए तो...

    • 2 days ago
  • होम

    क्यूंकि हिंदी हैं हम

    "ये लो बेटा मुंह खोलो आ....." बड़े ही प्यार से अपनी दो साल की बेटी को नीलम खाना खिला रही थी| पास ही सोफे पर बैठी रंजना( नीलम की ननद जो एक दिन पहले ही मायके...

    • 3 days ago
  • होम

    दस मिनट में अनोखे दही बड़े

    आप कितनी भी कुशल बावर्ची क्यों ना हो अगर अचानक मेहमान आएँ और आप के पास परोसने को कुछ ना हो तो सारी होशियारी धरी रह जाती है। कभी ना कभी ऐसा हो ही जाता...

    • 3 days ago
  • होम

    आपकी सीख गलत निकली, पापा!!

    प्रिय पापा, आपकी कही हर बात का मैंने आँख बंद कर के विश्वास किया , कभी कुछ संदेह भी रहा तो आपने उसे उसी क्षण दूर कर दिया | बचपन में आपकी सिखायी बातें जब...

    • 5 days ago
  • होम

    अच्छा जी... हमारा फोटो नहीं लगाया DP पर

    जब मैं छोटा था बड़े बुजुर्ग एक कहावत बोला करते थे,'झगड़े के तीन कारण ''जर'' ,"जोरू'' और "जमीन" लेकिन आजकल के जमाने में एक नया...

    • 5 days ago
  • होम

    "ये तो हमें पानी भी नहीं पूछती" - एक आम कहानी

    शिवानी आज घर के कामों में बहुत व्यस्त थी. काम वाली छुट्टी पर थी, बेटी की परीक्षाएं शुरू होने वाली थी, साथ ही वह घर से काम भी करती थी....

    • 5 days ago
  • होम

    "आईना झूठ नहीं बोलता"

    आज सुबह जब आईने के सामने खड़ी हुई ,तो एक बेटी,बहन,पत्नी,बहु और एक माँ सब नज़र आये मुझे अपने-आप में, लेकिन मैं यानि सुरभि कहीं नज़र नहीं आई।जिंदगी की भागदौड...

    • 5 days ago
  • होम

    दहेज़ नहीं हक है मेरा

    बैडरूम से ईशानी और विदित के लड़ने की आवाज़ बाहर तक आ रही थी। वर्षा आंटी को हॉल में बैठे-बैठे सब सुनाई दे रहा था पर उन्हें भी पता था कि ईशानी को समझाना मतलब...

    • 5 days ago
  • होम

    हीरे मोती मैं ना चाहूँ...

    इतना बड़ा घर है, अकेली राज रज रही हो, घर के काम करने को नौकर है। ना सास ननद की चिकचिक है पूरा दिन टीवी देखती हो, मजे करती हो आखिर तुम्हें चाहिए क्या? ना...

    • 5 days ago

Loading...

Top

Warning: Unknown: open(/tmp/sess_9055ca0538da75752a89c8f53f1cce8f, O_RDWR) failed: Permission denied (13) in Unknown on line 0

Warning: Unknown: Failed to write session data (files). Please verify that the current setting of session.save_path is correct () in Unknown on line 0