Thursday, 21 Jan, 7.33 pm नवभारत

विदेश
भारत-सीरिया | सीरिया की मदद के लिए UNSC में रचनात्मक भूमिका निभाने को तैयार हैं: भारत

File

संयुक्त राष्ट्र: भारत (India) ने सीरिया (Syria) में संघर्ष में शामिल विदेशी लड़ाकों के अन्य स्थानों पर भी पहुंचने पर चिंता व्यक्त की है और साथ ही रेखांकित किया कि वह सुरक्षा परिषद (Security Council) में रचनात्मक भूमिका निभाने के लिए तैयार है ताकि संयुक्त राष्ट्र (United Nations) में अपनी जगह फिर से हासिल करने के सीरिया के उद्देश्य को पूरा करने में मदद की जा सके।

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टी एस तिरुमूर्ति (TS Tirumurti) ने बुधवार को सीरिया पर सुरक्षा परिषद की ब्रीफिंग में याद दिलाया कि अगस्त 2011 में 15-राष्ट्रों के यूएनएससी में भारत की अध्यक्षता में सीरियाई संघर्ष पर पहला अध्यक्षीय प्रस्ताव पारित किया गया था। उन्होंने कहा कि दिसंबर 2012 तक, सीरिया पर तीन प्रस्ताव पारित किये गये, उनके कार्यान्वयन के संदर्भ में शायद ही कोई प्रगति हुई हो और आतंकवादी समूहों ने स्थिति का फायदा उठाया।

तिरुमूर्ति ने परिषद से कहा, 'जब हम आठ साल बाद सुरक्षा परिषद में अपना नया कार्यकाल शुरू करते हैं, तो यह ध्यान रखना वास्तव में निराशाजनक है कि सीरिया में चल रहे संकट का अभी तक अंत नहीं हुआ है और राजनीतिक प्रक्रिया अभी तक शुरू नहीं हुई है। क्षेत्रीय संगठनों की भागीदारी से संघर्ष और भी जटिल हो गया है।'

यह भी पढ़ें

परिषद ने संयुक्त राष्ट्र के सीरियाई दूत गेइर पेडरसन से भी वीडियो लिंक के माध्यम से चर्चा की। तिरुमूर्ति ने चिंता जताई कि सीरिया से निकलने वाला आतंकवाद बहुत दूर तक, यहां तक कि अफ्रीका के कुछ हिस्सों तक भी फैल गया है। उन्होंने कहा, 'सीरियाई संघर्ष में शामिल विदेशी लड़ाके भी अन्य स्थानों पर चले गए हैं। वहां मानवीय स्थिति पहले से ही काफी खराब थी, लेकिन कोविड​​-19 महामारी ने इसे और खराब कर दिया है।'

तिरुमूर्ति ने कहा, ''हम आशा करते हैं कि सीरिया में संघर्ष पूरी तरह से समाप्त हो जाएगा और बहुत जल्द सीरिया का पुनर्निर्माण शुरू हो जाएगा, ताकि सीरिया अरब दुनिया में अपनी ऐतिहासिक भूमिका निभाने के साथ-साथ संयुक्त राष्ट्र में अपनी जगह पुन: प्राप्त कर सकें। भारत परिषद में एक रचनात्मक और सार्थक भूमिका निभाने के लिए तैयार है।'

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: NavaBharat
Top