Wednesday, 23 Dec, 6.31 pm नवभारत

होम
यूएई-पोर्क वैक्सीन | UAE के फतवा काउंसिल ने 'पोर्क' के इस्तेमाल के बावजूद वैक्सीन को जायज़ करार दिया

दुबई: संयुक्त अरब अमीरात (United Arab Emirates) (यूएई) (UAE) के शीर्ष इस्लामी निकाय 'यूएई फतवा काउंसिल' (UAE Fatwa Council) ने कोरोना वायरस टीकों (Corona Virus Vaccine) में पोर्क (Pork) (सुअर के मांस) के जिलेटिन का इस्तेमाल होने पर भी इसे मुसलमानों (Muslims) के लिए जायज करार दिया है।

वैक्सीन में सामान्य तौर पर पोर्क जिलेटिन का इस्तेमाल होता है और इसी वजह से टीकाकरण (Vaccination) को लेकर उन मुस्लिमों की चिंता बढ़ गई है जो इस्लामी कानून के तहत पोर्क से बने उत्पादों के प्रयोग को 'हराम' मानते हैं।

काउंसिल के अध्यक्ष शेख अब्दुल्ला बिन बय्या (Sheikh Abdullah bin Bayyah) ने कहा कि अगर कोई और विकल्प नहीं है तो कोरोना वायरस टीकों को इस्लामी पाबंदियों (Islamic Ristrictions) से अलग रखा जा सकता है क्योंकि पहली प्राथमिकता 'मनुष्य का जीवन बचाना है।' काउंसिल ने कहा कि इस मामले पोर्क-जिलेटिन (Pork-Gelatin) को दवा के रूप में इस्तेमाल किया जाना है न कि भोजन के तौर पर।

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: NavaBharat
Top