Saturday, 14 Dec, 8.30 pm नवजीवन

होम
फारूक अब्दुल्ला की हिरासत अवधि तीन महीने और बढ़ी, ममता ने बताया- असंवैधानिक कदम

नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता, पूर्व केंद्रीय मंत्री और जम्मू-कश्मीर के तीन बार के मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला की हिरासत अवधि शनिवार को तीन महीने के लिए और बढ़ा दी गई है। फारूक अब्दुल्ला अभी तीन महीने और हिरासत में रहेंगे। बता दें कि उनके घर को ही उपकारागार में परिवर्तित कर उन्हें वहीं रखा गया है अधिकारियों ने यह जानकारी दी। अब्दुल्ला पांच बार सांसद रहे हैं।

इस मामले में प्रतिक्रिया देते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ट्वीट किया, ''फारूक अब्दुल्ला की हिरासत जन सुरक्षा कानून के तहत तीन महीने के लिए बढ़ा दी गयी है......यह बेहद दुखद है। हमारे लोकतांत्रिक देश में ऐसा हो रहा है। ये सब असंवैधानिक कदम है ।'' अब्दुल्ला उन कुछ नेताओं और कार्यकर्ताओं में शुमार हैं जिन्हें पांच अगस्त से हिरासत में लिया गया है। केंद्र सरकार ने पांच अगस्त को जम्मू कश्मीर राज्य का विशेष दर्जा हटाने और इसे दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने की घोषणा की थी ।

नेशनल कांफ्रेस के नेता पर सख्त जन सुरक्षा कानून (PSA) पहली बार 17 सितंबर को लगाया गया था, जिसके कुछ ही घंटे बाद एमडीएमके नेता वाइको की एक याचिका पर उच्चतम न्यायालय सुनवाई करने वाला था।

याचिका में वाइको ने आरोप लगाया था कि नेकां नेता को गैर कानूनी तरीके से हिरासत में रखा गया है। अधिकारियों ने बताया कि नेशनल कांफ्रेंस अध्यक्ष पर पीएसए के 'सरकारी आदेश' के तहत मामला दर्ज किया गया है जो किसी व्यक्ति को बगैर सुनवाई के तीन से छह महीने तक जेल में रखने की इजाजत देता है।

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Navajivan
Top