Thursday, 29 Jul, 12.14 pm News24

होम
MP Board 12th Result Out: एमपी बोर्ड 12वीं के नतीजे घोषित, 52% प्रथम श्रेणी, 40% द्वितीय श्रेणी और 8% तृतीय श्रेणी में पास

MP Board Class 12th Result: मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा एमपी बोर्ड कक्षा 12वीं का परीक्षा परिणाम घोषित कर दिया गया है। स्कूल शिक्षा विभाग, मध्यप्रदेश की ओर से यह जानकारी दी गई। छात्र-छात्राएं एमपी बोर्ड 12वीं का परिणाम बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट mpbse.nic.in पर जाकर रिजल्ट चेक सकते हैं। बता दें कि इस साल 12वीं बोर्ड परीक्षा के लिए 7.50 छात्रों ने रजिस्ट्रेशन कराया है।

परिणाम मध्यप्रदेश के शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार द्वारा प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से घोषित किए गए हैं। इस बार 52% छात्र प्रथम श्रेणी में, 40% छत्र द्वितीय श्रेणी में और 8% छात्र तृतीय श्रेणी में पास हुए हैं। इस बार 100 फीसदी छात्र पास किये गए हैं। किसी छात्र को फेल नहीं किया गया है। मध्य प्रदेश बोर्ड ने एमपीबीएसई 12वीं रिजल्ट 2021 के साथ-साथ उन सभी वेबसाइट की सूची भी जारी की गई है, जहां स्टूडेंट्स अपना एमपी बोर्ड 12वीं रिजल्ट 2021 और ई-मार्कशीट देख व प्रिंट कर पाएंगे।

मोबाइल ऐप पर ऐसे करें चेक -

छात्र मोबाइल ऐप पर भी अपना रिजल्ट चेक कर सकेंगे। मोबाइल ऐप पर रिजल्ट चेक करने लिए गूगल प्ले स्टोर पर जाकर MPBSE Mobile App या MP Mobile App डाउनलोड करना होगा, इसके बाद ऐप पर Know Your Result सेलेक्ट कर अपना रोल नंबर और आवेदन क्रमांक सबमिट करना होगा, जिसके बाद आपका रिजल्ट स्क्रीन पर आ जाएगा। अब अपना रिजल्ट चेक कर लें।

छात्र SMS से भी रिजल्ट चेक कर सकते हैं -

छात्र आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से अपना 12वीं नहीं देख पाएं तो, वे अपना रिजल्ट SMS के माध्यम से देख सकते हैं। इसके लिए मोबाइल में MPBSE12<space> रोल नंबर टाइप करके, 56263 और 5676750 पर भेजना होगा।

MP Board 12th Result 2021: इन स्टेप्स से करें चेक

- छात्र सबसे पहले ऑफिशियल वेबसाइट mpresults.nic.in पर जाएं।

- इसके बाद वेबसाइट पर दिए गए 12वीं के रिजल्ट के लिंक पर क्लिक करें।

- अब यहां पर मांगी गई जानकारी जैसे रोल नंबर आदि सबमिट करें।

- इसके बाद आपका रिजल्ट स्क्रीन पर आ जाएगा, अब इसे चेक कर लें।

- अंत में भविष्य में उपयोग के लिए इसका प्रिंट ले लें।

इस तरह तैयार हुआ है रिजल्ट -

विभाग के अनुसार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कक्षा 10 के विभिन्न विषयों में प्राप्त सर्वश्रेष्ठ पांच अंकों के आधार पर कक्षा 12 के अंक निर्धारित किए जाएंगे। एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि सभी छात्र, जिन्होंने पहले अपनी बोर्ड परीक्षा के लिए पंजीकरण कराया था, को इस पद्धति का उपयोग करके पदोन्नत किया जाएगा। जो छात्र अपने स्कोर में सुधार करना चाहते हैं, उन्हें भी कोविड की स्थिति सामान्य होने पर परीक्षा में बैठने की अनुमति दी जाएगी। पिछले साल बोर्ड ने 12वीं के नतीजे 27 जुलाई को घोषित किए थे।

और पढ़िए - शिक्षा से जुडी खबरे यहाँ पढ़ें

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: News24 Hindi
Top