Friday, 03 Jul, 3.51 pm न्यूज़4Nation

बिहार
बिहार चुनाव 2020 से ठीक पहले मेक यू बिग मीडिया प्राइवेट लिमिटेड की दस्तक, ये है पूरा प्लान....

इस देश में जहां चुनाव को पर्व की तरह मनाया जाता है, वहीं बढ़ती तकनीक के दौर में अब चुनाव की रणनीति बनाने के लिए कई पार्टियां और कई चुनाव में उतरने वाले प्रत्याशी अब चुनाव को मैनेज करने वाली कंपनी का सहारा लेने लग गई हैं। आज देश में हर राजनेता को पब्लिक रिलेशन, इवेंट मैनेजमेंट, ऑनलाइन ब्रांड मैनेजमेंट एंड प्रमोशन की आवश्यकता होती है। इस ब्रांडिंग के दौर में मेक यू बिग मीडिया प्राइवेट लिमिटेड जैसी कंपनी उभर कर सामने आई है जिसने निरंतर कई चुनावो में अपने कार्यो और सूझ बूझ से की राजनेताओं के भविष्य को संवारने और जनता तक उनके इरादों को पहुंचाने औऱ चुनाव को जिताने का सफल प्रयास किया है।

उत्तर प्रदेश का 2017 विधानसभा चुनाव हो या हरियाणा का विधान सभा चुनाव मेक यू बिग ने देश-प्रदेश को कई नेताओं को विधानसभा तक पहुंचाया है। कंपनी के सीईओ एवं फाउंडर आशीष गुप्ता ने बताया कि कई प्रत्याशियों को चुनाव जिताने के बाद अब मेक यू बिग का लक्ष्य बिहार विधान सभा चुनाव में अपने क्लाइंट प्रत्याशियों को विधान सभा तक पहुंचाना है। इसके लिए उनके साथ प्रोफेशनल्स की बकायदा पूरी टीम होती है, अब नेता किसी भी काम के लिए परेशान होने की बजाय इस कंपनी को प्रतिस्पर्धी दरों पर

एकमुश्त सारा काम देकर राजनीति में ध्यान देते हैं। हिंदी खबर से बातचीत के दौरान आशीष गुप्ता ने बताया कि बूथ मैनेजमेंट और वॉर रूम के कंपनी के पास अपने सॉफ्टवेयर हैं जिनके माध्यम से प्रत्याशियों को सीधे मतदाताओं से कनेक्ट किया जाता है, उनकी कंपनी प्रत्याशियों के लिए नए कार्यकर्ताओं की टीम भी हर बूथ पर खड़ी करने में सक्षम है , बिहार में अभी वह 5 विधानसभाओं में कार्य कर रहे हैं, आशीष कई बड़े चैनल और समाचार पत्रों में बड़े पदों पर पत्रकार रहे हैं।

आशीष गुप्ता की इलेक्शन मैनेजमेंट कंपनी मेक यू बिग मीडिया प्राइवेट लिमिटेड के द्वारा नेताओं को जनता से सीधा संपर्क कराने के लिए बूथ मैनेजमेंट में आये फीडबैक के आधार पर ही आगे की रणनीति बनायी जाती है, सर्वे app के माध्यम से हर बूथ पर समस्या के वीडियो अपलोड किये जाते हैं और रिसर्च और कंटेंट टीम उसी के आधार पर प्रत्याशी के कार्यक्रम, भाषण, सोशल मीडिया पोस्ट बनाती है, बिहार चुनाव में अभी वह पांच सीटों पर बीजेपी नेताओं के लिए काम कर रहे है, बिहार में कंपनी का 50 प्रत्याशियों को सेवा देने का लक्ष्य है, २०२२ में उत्तर प्रदेश में होने वाले चुनाव को लेकर भी कई नेताओं ने भी कंपनी से संपर्क साधा है

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: News4Nation
Top