Friday, 03 Jul, 9.18 am Newsroom Post

मनोरंजन
3 नेशनल अवार्ड जीतने वाली सरोज खान ने 3 साल की उम्र में किया पहला काम, जानें अनसुने किस्से

नई दिल्ली। मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान काफी समय से बीमार चल रहीं थीं। 71 साल की उम्र में कार्डियक अरेस्ट के चलते उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया। उन्होंने इंडस्ट्री में काफी लंबे समय तक काम किया। इंडस्ट्री के साथ फैंस को भी उनकी कोरियोग्राफी को काफी पसंद आती थी। हम आज उनके जीवन के बारे में कई किस्से ले कर आये हैं।

सरोज खान का जन्म

कोरियोग्राफर सरोज खान का जन्म 1948 में 22 नवंबर को हुआ था। सरोज खान बॉलीवुड में ऐसा नाम रहीं, जिन्हें हर कोई जानता है। उन्होंने अपने करियर में कई फेमस गानों को कोरियोग्राफ किया था। चार दशक से अधिक के करियर में सरोज खान ने 2 हजार से अधिक गानों को कोरियोग्राफ किया था।

सरोज खान का करियर

सरोज खान ने अपना करियर 3 साल की उम्र में शुरू किया था। खास बात ये है कि उन्होंने डांस के लिए कोई फॉर्मल ट्रेनिंग नहीं ली थी। उन्होंने फिल्म मि. इंडिया का हिट गाना 'हवा-हवाई', चांदनी फिल्म का गाना 'मेरे हाथों में नौ-नौ चूड़ियां हैं', फिल्म थानेदार का गाना 'तम्मा तम्मा', दिलवाले दुल्हनिया ले जायेंगे फिल्म का 'जरा सा झूम लूं मैं', जब वी मेट फिल्म का ये इश्क हाय जैसे हिट गाने कोरियोग्राफ किए थे। उन्होंने तीन बार राष्ट्रीय पुरस्कार भी हासिल किया था।

माधुरी संग बनी हिट जोड़ी

सरोज खान ने माधुरी दीक्षित के कई गानों को कोरियोग्राफ किया। इसमें साल 1988 में आई फिल्म तेजाब का गाना 'एक..दो..तीन..चार..' काफी फेमस हुआ था। साल 1991 में आई फिल्म बेटा का गाना 'धक-धक करने लगा' को भी सरोज खान ने कोरियोग्राफ किया था। सरोज खान की बतौर कोरियोग्राफर उनकी आखिरी फिल्म 'कलंक' थी। इस फिल्म में उन्होंने माधुरी दीक्षित संग काम किया था। ये फिल्म 2019 में रिलीज हुई थी। माधुरी संग उनकी जोड़ी काफी हिट रही थी और माधुरी उनके काफी करीब भी हैं।

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Newsroom Post Hindi
Top