Wednesday, 21 Apr, 10.58 am आउटलुक

होम
एक्सक्लुसिव।। दिल्ली में भी कोविड मौत के आंकड़ों में बड़ी हेरफेर, नगर निगम- एक हफ्ते में 1688 शवों का अंतिम संस्कार, केजरीवाल- 1078 की हुई मौत

केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण की वजह से देश में 2,020 और लोगों की मौत हो गई है जबकि राजधानी दिल्ली में 277 और लोगों ने अपनी जान गंवाई है। पिछले कई दिनों से राज्य के अलग-अलग शहरों से कोरोना संक्रमण की वजह से जान गंवाने वाले शवों की संख्या और सरकार के आंकड़ों में बड़ा अंतर पाया जा रहा है। श्मशान घाटों पर शवों की संख्या खत्म होने का नाम नहीं ले रही है जबकि सरकारी आंकड़े कुछ और बयां कर रहे हैं।

यही स्थिति राजधानी दिल्ली की भी है। दिल्ली में भी बीते एक सप्ताह के आंकड़ों को देखें तो बड़ा हेरफेर नजर आ रहा है। नगर निगम के आंकड़े और केजरीवाल सरकार द्वारा जारी किए जा रहे मौत की संख्या में बड़ा अंतर है। आउटलुक को दिल्ली के तीनों नगर निगमों से मिली जानकारी और रिपोर्ट के मुताबिक 12 अप्रैल से 19 अप्रैल के बीच कोरोना संक्रमण की वजह से कुल 1688 शवों का अंतिम संस्कार किया गया। जबकि दिल्ली सरकार द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक 1078 लोगों की मौत हुई। यानी की दोनों आंकड़ों में करीब 600 से अधिक का अंतर है।

( दिल्ली के निगमबोध घाट पर कोरोना संक्रमित शवों का होता अंतिम संस्कार, फोटो- आलिश उद्दीन)

12 अप्रैल

इस दिन शाम 6 बजे तक दिल्ली के तीनों नगर निगम- दक्षिणी दिल्ली, पूर्वी दिल्ली और उत्तरी दिल्ली नगर निगमों के अलग-अलग श्मशान घाटों पर कुल 117 लोगों का अंतिम संस्कार किया गया जबकि दिल्ली सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक इस दिन 72 लोगों की मौत हुई।

13 अप्रैल

आउटलुक को नगर निगम से प्राप्त आंकड़ों के मुताबिक इस दिन 143 लोगों का अंतिम संस्कार किया गया जबकि दिल्ली सरकार ने आंकड़े जारी कर बताया कि इस दिन कोरोना से 81 लोगों की मौत हुई।

14 अप्रैल

तीनों नगर निगम के कुल आंकड़ों के मुताबिक इस दिन 149 लोगों का अंतिम संस्कार हुआ। जबकि दिल्ली सरकार के मुताबिक 104 लोगों की मौत हुई।

15 अप्रैल

इस तारीख को मिली जानकारी के मुताबिक 174 लोगों का अंतिम संस्कार किया गया। जबकि स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि इस दिन कुल 112 लोगों ने जान गंवाई।

16 अप्रैल

आउटलुक को दक्षिणी दिल्ली नगर निगम से मिली जानकारी के मुताबिक 16 अप्रैल को 193 लोगों को अंतिम संस्कार हुआ। जबकि जारी सरकारी आंकड़ों के मुताबिक 141 लोगों की ही मौत हुई।

17 अप्रैल

इस दिन तीनों नगर निगम के मुताबिक कुल 265 शवों का अंतिम संस्कार किया गया जबकि दिल्ली सरकार का कहना है कि 167 लोगों ने अपनी जानें गंवाई।

18 अप्रैल

लगातार बढ़ते मौत के आंकड़ों के बीच नगर निगमों की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक इस दिन 290 शवों का विभिन्न घाटों पर अंतिम संस्कार किया गया जबकि केजरीवाल सरकार के मुताबिक इस दिन 161 लोगों की मौत हुई।

19 अप्रैल

तीनों नगर निगम के मुताबिक इस दिन अब तक की सबसे अधिक मौतें हुई है। एक दिन में कुल 357 लोगों का अंतिम संस्कार किया गया है। जबकि दिल्ली सरकार की ओर से जारी किए गए आंकड़े बताते हैं कि इस दिन 240 लोगों की मौत हुई।

यानी बीते एक सप्ताह के कुल आंकड़ों का गणित कहता है कि नगर निगमों की तरफ से जारी किए गए डेटा और सरकार के आंकड़ों में 500 से 600 मौतों का अंतर है।

आउटलुक से बातचीत में दक्षिणी दिल्ली नगर निगम की मेयर अनामिका मिथिलेश कहती हैं, "आंकड़ों में सरकार हेरफेर कर रही है, इस बात पर मैं कुछ नहीं कहना चाहूंगी लेकिन, जो नगर निगम के आंकड़े हैं वही वास्तविक आंकड़े हैं। नगर निगम ही शवों का अंतिम संस्कार करवा रही है।"

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Outlook Hindi
Top