Friday, 30 Oct, 1.05 am पीपुल्स समाचार

राष्ट्रीय
दुनियाभर में सर्दी की दस्तक, एक दिन में आए 5 लाख केस, कई देशों में लॉकडाउन

नई दिल्ली। देश में कोरोना के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 80 लाख के पार चली गई। हालांकि आंकड़े बता रहे हैं कि भारत में कोरोना की रतार कम हुई है। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि आखिर के 10 लाख केस 18 दिन में आए हैं। हालांकि, दिल्ली और केरल समेत कई राज्यों में कोरोना मामलों ने रतार पकड़ ली है। ऐसे में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने आशंका जताई है कि आने वाले फेस्टिव सीजन में कोरोना के मामले और ज्यादा हो सकते हैं। विदित है कि देश में 11 अक्टूबर को कोरोना मरीजों का आंकड़ा 70 लाख के पार हुआ था। इसबीच विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के चीफ टेड्रोस अधानोम ने कहा कि पिछले 24 घंटे में दुनियाभर में 5 लाख से ज्यादा नए मामले है, वहीं इस दौरान 11.78 हजार मरीजों की मौत हुई। उन्होंने बताया कि पिछले हते पूरी दुनिया में कोरोना के 20 लाख से अधिक नए मामले सामने आए। उन्होंने कहा कि महामारी शुरू होने के बाद यह सबसे कम समय में इतनी तेजी से बढ़े मामले हैं, जो कि अच्छा संकेत नहीं है। सर्दियों में हालात हो सकते हैं भयानक हेल्थ विशेषज्ञों का मानना है कि सर्दियां आने पर कोरोना संक्रमण और भयानक रूप ले सकता है, जिसका असर यूरोप में अब दिखना शुरू हो चुका है। यूरोप में हाल ही में 2,05,809 नए कोरोना संक्रमित सामने आए थे। इनमें सबसे ज्यादा फ्रांस से 45 हजार और ब्रिटेन में 23 हजार मामले आए है। यूरोप में पिछले एक हते में 37 फीसदी कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी हुई है।

एक माह का लॉकडाउन; राष्ट्रपति बोले- करनी पड़ेगी सख्ती

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने कोरोना की दूसरी लहर को देखते हुए दोबारा लॉकडाउन का ऐलान किया है। उन्होंने कहा, कोरोना की दूसरी लहर काफी खतरनाक हो सकती है। अगर सख्त कदम नहीं उठाए गए तो देश में मरने वालों का आंकड़ा 4 लाख के ऊपर तक पहुंच सकता है। फ्रांस में शनिवार से लॉकडाउन लागू होगा। यह 1 दिसंबर तक चलेगा। हालांकि, यह पहले लॉकडाउन के मुकाबले इतना सख्त नहीं होगा। इस दौरान स्कूल और अन्य जन सेवाएं और जरूरी आॅफिस खुले रहेंगे।

1 नवंबर से रोजाना 15 हजार श्रद्धालु कर सकते हैं माता वैष्णो देवी के दर्शन

चीन से तनातनी के बीच भारतीय नौसेना किया एक और मिसाइल का सफल परीक्षण

भोपाल में मुसलमानों की रैली पर बाबा रामदेव नाराज, बोले- बार-बार एक ही संप्रदाय आग लगाने क्यों लग जाता?; सांसद प्रज्ञा ने कहा- गद्दारों की कमी नहीं

एक्ट्रेस उर्मिला मातोंडकर राज्यपाल कोटे से महाराष्ट्र विधान परिषद जाएंगी

राष्ट्रीय एकता दिवस: जाने 31 अक्टूबर को क्यों मनाया जाता है राष्ट्रीय एकता दिवस

कोरोना में ऐसी सजा: मुंबई में मास्क न पहनने वालों से एक घंटे तक सड़कों पर झाड़ू लगवाई, 200 रुपए स्पॉट फाइन लिया जाएगा

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Peoples Samachar
Top