Monday, 12 Apr, 12.40 pm Punjabkesari.com

होम पेज
दिल्ली सरकार ने केंद्र से की अस्पतालों में बेड्स बढ़ाने की मांग, सत्येंद्र जैन बोले- जरूरी हो तभी घर से निकले बाहर

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोरोना ने एक बार फिर रफ्तार पकड़ ली है। यहां यहा रोजाना संक्रमण के मामलों में लगातार इजाफा हो रहा है। इस बीच दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने सोमवार को कहा कि दिल्ली में नए लेवल पर कोरोना के मामले पहुंच गए हैं, सभी से अपील है कि जब जरूरी हो तभी घर से बाहर निकले। हम बेड लगातार बढ़ा रहे हैं। पिछले एक हफ्ते में हमने 5,000 बेड बढ़ाएं हैं,आज भी 50% बेड उपलब्ध है इसे हम और बढ़ा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि दिल्ली के कोविड केयर सेंटर में 5,525 बेड दिल्ली सरकार के हैं जिसमें से 2% बेड भरे हुए हैं और बाकि खाली हैं। केंद्र सरकार से हमने निवेदन किया है कि जिस लेवल पर पहले बेड उपलब्ध थे वैसे फिर से करें। उनके पास अभी 1,090 बेड हैं जबकि पहले 4,000 से ज़्यादा थे।

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि संक्रमण के मामलों में तेजी से बढ़ोत्तरी को देखते हुए केंद्र को एक बार फिर दिल्ली के अस्पतालों में कोविड बेड बढ़ाने के लिए पत्र लिखा गया है। उन्होंने कहा कि अस्पतालों में करीब 50 प्रतिशत बेड अब भी उपलब्ध हैं, वेंटिलेटर बेड पर मरीज हो सकते हैं लेकिन उनमें से कुछ ही मरीज वेंटिलेटर पर हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार, दिल्ली में रविवार को कोविड-19 के रिकॉर्ड 10,774 नए मामले आये जो राष्ट्रीय राजधानी में एक दिन में अब तक का सर्वाधिक मामला है।

मंत्री ने कहा, ''मामलों में तेज वृद्धि को देखते हुए केंद्र को एक बार फिर दिल्ली के अस्पतालों में कोविड बेड बढ़ाने के लिए पत्र लिखा गया है। दिल्ली के अस्पतालों में अब तक करीब 1,090 बेड हैं जो संक्रमण की पिछली लहर के दौरान 4,000 से अधिक थे। इसलिए हमने उसी स्तर पर अस्पतालों में बेड बढ़ाये जाने का अनुरोध किया है।''वेंटीलेटर की आवश्यकताओं के बारे में पूछे जाने पर जैन ने कहा, ''अस्पतालों में करीब 50 प्रतिशत बेड अब भी उपलब्ध हैं, वेंटिलेटर बेड पर मरीज हो सकते हैं लेकिन उनमें से कुछ ही मरीज वेंटिलेटर पर हैं।''

दिल्ली में बेकाबू कोरोना से हड़कंप, CM केजरीवाल ने बुलाई समीक्षा बैठक

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Punjab Kesari Hindi
Top