Friday, 08 Jan, 8.40 pm Punjabkesari.com

होम पेज
कोरोना वैक्सीन के परिवहन के लिए DGCA ने जारी किये दिशा-निर्देश, जानिये कैसे पैक होंगे टीके

नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने शुष्क बर्फ में कोविड-19 टीकों के परिवहन के लिए विमान सेवा कंपनियों के लिए दिशा-निर्देश जारी किये हैं। महानिदेशालय के आज जारी परिपत्र में कहा गया है कि यात्री केबिन में यदि शुष्क बर्फ के साथ टीकों की ढुलाई की अनुमति तभी होगी जब उसमें आम यात्री सवार न हों। साथ ही केबिन क्रू तथा अनिवार्य सदस्यों के लिए सुरक्षा के लिए जरूरी निर्देश दिये गये हैं।

कोविड-19 के लिए दुनिया भर में विकसित विभिन्न टीकों को माइनस आठ से माइनस 70 डिग्री सेंटीग्रेड के बीच रखने की जरूरत होती है। इसे देखते हुये उनके परिवहन और भंडारण के दौरान तापमान कम रखने के लिए कई प्रकार के उपाय किये जाते हैं। शुष्क बर्फ यानी ठोस कार्बन डाई-ऑक्साइड काफी सस्ता आसानी से उपलब्ध विकल्प है, लेकिन माइनस 78 डिग्री सेंटीग्रेड से अधिक तापमान पर यह लगातार गैस में बदलता रहता है। इससे विमान के अंदर वायु दाब में बदलाव और कार्बन डाई-ऑक्साइड गैस की अधिकता की समस्या आ सकती है।

डीजीसीए ने एयरलाइंस से कहा है कि वे विमान निर्माता कंपनियों के मैन्युअल के अनुरूप यह तय करें कि कार्गो कंपार्टमेंट में और केबिन में अधिकतम कितना शुष्क बर्फ रखा जा सकता है। इसके लिए तकनीकी दिशा-निर्देश क्या हैं। साथ ही कार्बन डाई-ऑक्साइड गैस से किसी को नुकसान न हो इसके लिए चालक दल के सदस्यों को प्रशिक्षित किया जाना अनिवार्य किया गया है। केबिन में अन्य अनिवार्य सदस्यों की उपस्थिति की स्थिति में हर समय अतिरिक्त ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित करने का भी निर्देश दिया गया है।

ब्रिटेन में मिले कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन का भारत में कहर जारी, संक्रमित लोगों की संख्या हुई 82

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Punjab Kesari Hindi
Top