Wednesday, 21 Oct, 11.41 pm पंजाब केसरी

देश
अरविंद केजरीवाल ने पंजाब के कृषि कानून को बताया फर्जी, कहा- जनता को बेवकूफ बनाया गया

जालंधर(विशेष): केंद्र सरकार द्वारा पारित किए गए कृषि कानूनों को निष्प्रभावी करने के लिए पंजाब विधानसभा द्वारा मंगलवार को पारित किए गए कानूनों के मामले में बुधवार को पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ट्विटर पर भिड़ गए। अरविन्द केजरीवाल ने अपने ट्वीट में पंजाब विधानसभा में पारित संशोधन बिलों को किसानों के साथ धोखा बताया तो इस पर पलटवार करते हुए कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने कहा कि अरविन्द केजरीवाल को संविधान की जानकारी नहीं।

राजा साहिब, किसानों को एम.एस.पी. चाहिए, फर्जी और झूठे कानून नहीं
राजा साहिब, आपने केंद्र के कानूनों में संशोधन किया है, क्या राज्य केंद्र के कानूनों को बदल सकता है? नहीं। आपने नाटक किया है। जनता को बेवकूफ बनाया। आपने कल जो कानून पास किए, क्या उसके बाद पंजाब के किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य मिलेगा? नहीं। किसानों को एम.एस.पी. चाहिए, आपके फर्जी और झूठे कानून नहीं।

राजा साहिब, पंजाब के किसानों को धोखा मत दीजिए। अगर आप किसानों का असली भला चाहते हो तो एक एम.एस.पी. कानून पास करो कि केंद्र सरकार जितनी फसल एम.एस.पी. पर नहीं उठाएगी,वह फसल पंजाब सरकार एम.एस.पी. पर उठाएगी।

केजरीवाल जी, प्रतिक्रिया देने से पहले थोड़ा होमवर्क तो कर लेते
अरविन्द केजरीवाल आपकी प्रतिक्रिया कोरी अनभिज्ञता है, खैर मैं आपको दोष नहीं दूंगा क्योंकि दिल्ली असल में एक राज्य नहीं है लेकिन यदि आपको सच में किसानों की ङ्क्षचता होती तो मेरे द्वारा किसानों के हितों में उठाए गए कदमों पर इस तरह की जल्दबाजी वाली प्रतिक्रिया देने से पहले थोड़ा होमवर्क कर लेते।

मैं इस मामले पर शिरोमणि अकाली दल और आम आदमी पार्टी द्वारा सदन में बिलों का समर्थन किए जाने के बाद अपनाए गए दोहरे रवैये पर हैरान हूं। अरविन्द केजरीवाल किसानों के हितों को बचाने के लिए इसी तरह का बिल दिल्ली की विधानसभा में ले कर आएं।

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: PunjabKesari
Top