Friday, 27 Sep, 10.28 am राज एक्सप्रेस

समाचार
इंदौर: वारदात से सनसनी-इंजीनियर ने पत्नी व जुड़वां बच्‍चों के साथ की खुदकुशी

राज एक्‍सप्रेस। इंदौर के खुडैल स्थित एक वाटर पार्क के रूम में सॉफ्टवेयर इंजीनियर, उनकी पत्नी और दो जुड़वा बच्‍चों के शव मिलने से सनसनी फैल गई है। मूलरूप से दिल्ली के रहने वाले इंजीनियर अपोलो डीबी सिटी में रह रहे थे, उन्होंने पत्नी एवं दो जुड़वां बच्चों के लिए वाटर पार्क में ऑनलाइन रूम बुक करवाया। वहां पहुंचकर पूरे परिवार ने सोडियम नाइट्रेट को घोला और चारों सदस्यों ने जान (Engineer Family Suicide Indore) दे दी।

एक साथ क्‍यों की खुदकुशी :

वैसे परिवार के चारों सदस्यों ने एक साथ जान क्‍यों दी? इस प्रश्न का जवाब तलाशने में पुलिस टीम जुट गई है। आत्महत्या के कारणों का खुलासा करने के लिए सायबर एक्सपर्ट्स टीम की मदद भी ली जाएगी।

Engineer Family Suicide Indore

आत्महत्या के कारणों का खुलासा नहीं :

फिलहाल अभी आत्महत्या के कारणों का खुलासा नहीं हुआ है, परिजनों से पूछताछ और जांच कर पुलिस आत्महत्या के कारणों का पता लगाने में जुट गई है। समाचार लिखे जाने तक कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। सॉफ्टवेयर इंजीनियर अभिषेक सक्‍सेना (45) ने खुडैल के क्रिसेंट वाटर पार्क में पत्नी प्रीति सक्‍सेना (42), जुड़वां बच्‍चें अद्वित (14) और अन्यया (14) के साथ चेक इन किया।

दरवाजा खोलते ही उड़े होश :

बता दे कि, खुडैल स्थित वाटर पार्क में रिसॉर्ट है और जहां मेहमान किराए पर रूम लेकर लेकर रुकते हैं। इसी प्रकार इंजीनियर की फैमिली भी यहां आई थीं, लेकिन जब 26 सितंबर, गुरूवार को उनके रुम का दरवाजा नहीं खुला और ना ही परिवार का कोई सदस्‍य रूम से बाहर आया, तो रिसॉर्ट प्रबंधन को कुछ शक हुआ। वे रूम के पास पहुंचे, दरवाजा अंदर से बंद था। उनके काफी प्रयास के बाद जब अंदर से बंद दरवाजा नहीं खुला, तो उन्होंने मास्टर चाबी का इस्तेमाल कर दरवाजे को खोला। दरवाजा खोलते ही उनके होश उड़ गए, क्‍योंकि कमरे में परिवार के चारों सदस्‍यों के शव पड़े हुए थे और शव नीले पड़ चुके थे।

सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची :

पार्क के प्रबंधन ने तुरंत ही खुडैल पुलिस को इसकी इसकी सूचना दी, पुलिस टीम मौके पर वहां पहुंची और एफएसएल टीम को भी बुलवाया गया। पुलिस टीम ने आत्महत्या के कारणों का पता लगाने के लिए इनके फ्लैट नंबर 408 के आस-पास रहने वाले लोगों से पूछताछ की, तब पता चला कि, परिवार के लोग आस-पास के लोगों से ज्यादा बातचीत नहीं करते थे। अक्‍सर उनके फ्लैट का दरवाजा बंद ही रहता था। घर पर काम करने वाली नौकरानी सुलोचना के मुताबिक पत्नी भी नौकरी करती थी। पति-पत्नी के बीच कुछ दिनों से अनबन चल रही थी, अनबन किस बात को लेकर हुई थी, इसका कारण नौकरानी नहीं बता सकी है। वहीं इंजीनियर अभिषेक के परिवार में बुजुर्ग मां भी है, जो घर पर ही थी। पुलिस ने उन्हें व अन्य रिश्तेदारों को सूचना देकर बुलाया।

इंजीनियर अभिषेक के परिवार में बुजुर्ग मां है, जो घर पर ही थी। पुलिस ने उन्हें व अन्य रिश्तेदारों को सूचना देकर बुलाया ।

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Raj Express
Top