Saturday, 21 Sep, 2.17 pm रॉयल बुलेटिन

ताजा खबर
विधानसभा चुनाव:महाराष्ट्र, हरियाणा में 21 अक्टूबर को होगा मतदान, 24 को आएंगे नतीजे, आचार संहिता लागू

18 राज्यों की कुल 64 सीटों पर उपचुनाव भी दोनों राज्यों के साथ ही कराया जाएगा

नई दिल्ली। हरियाणा की 90 और महाराष्ट्र की 288 विधानसभा सीटों पर 21 अक्टूबर को मतदान और 24 अक्टूबर को मतगणना होगी। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने शनिवार को दोनों राज्यों में एक चरण में चुनाव कराने का ऐलान किया। निर्वाचन सदन में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने कहा, अन्य राज्यों की विधानसभा की 64 सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए भी 21 अक्टूबर को मतदान और 24 अक्टूबर को मतगणना होगी। चुनाव की घोषणा के साथ ही दोनों राज्यों में आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू हो गयी।

मुख्य चुनाव आयुक्त अरोड़ा ने बताया कि हरियाणा विधानसभा का 2 नवंबर को और महाराष्ट्र विधानसभा का 9 नवंबर को कार्यकाल खत्म हो रहा है। दोनों राज्यों में चुनाव प्रक्रिया 27 अक्टूबर तक पूरी कर ली जाएगी। दोनों राज्यों के लिए 27 सितम्बर को अधिसूचना जारी होगी। नामांकन की अंतिम तिथि 4 अक्टूबर रहेगी। स्क्रूटनी 5 अक्टूबर को होगी और 7 अक्टूबर तक नाम वापस लिए जा सकेंगे।

उन्होंने कहा, 18 राज्यों की कुल 64 सीटों पर उपचुनाव भी दोनों राज्यों के साथ ही कराया जाएगा। उपचुनाव के लिए अधिसूचना 23 सितम्बर को जारी होगी। नामांकन की तारीख 30 सितम्बर होगी। स्क्रूटनी 1 अक्टूबर को और नामवापसी की तारीख 3 अक्टूबर होगी। अरुणाचल की 1, असम की 4, बिहार की 5, छत्तीसगढ़ की 1, गुजरात की 4, हिमाचल प्रदेश की 2, कर्नाटक की 15, केरल की 5, मध्यप्रदेश की 1, मेघालय की 1, उड़ीसा की 1, पुडुचेरी की 1, पंजाब की 4, राजस्थान की 2, सिक्किम की 3, तमिलनाडु की 2, तेलंगाना की 1 और उत्तर प्रदेश की 11 सीटों पर उपचुनाव है।

उल्लेखनीय है कि वर्ष 2014 के चुनाव में महाराष्ट्र में कुल 288 सीटों में से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने 122 और शिवसेना ने 63 सीटें जीती थीं। कांग्रेस को 42, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) को 41 और अन्य ने 20 सीटों पर विजय हासिल की थी। हरियाणा की कुल 90 सीट में से भाजपा ने 47, कांग्रेस ने 15, इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) ने 19 और अन्य ने 9 सीटों पर जीत दर्ज की थी।

दोनों राज्यों के चुनाव कार्यक्रम की घोषणा करते हुए आयोग ने कहा है कि हरियाणा की 90 सीटों में से 17 अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित हैं। महाराष्ट्र की 288 सीट में से 39 अनुसूचित जनजाति और 35 अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित हैं। हरियाणा में 1.28 करोड़ और महाराष्ट्र में 8.94 करोड़ वोटर हैं।

चुनाव आयोग ने कहा कि उम्मीदवारों को आपराधिक रिकार्ड की जानकारी देनी होगी। आपराधिक रिकार्ड की जानकारी नहीं देने या फिर कालम खाली छोड़ने पर उम्मीदवारी रद्द हो जाएगी। अरोड़ा ने बताया कि चुनाव खर्च की सीमा 28 लाख रुपये होगी। बावजूद इसके चुनाव खर्च और उससे जुड़ी गतिविधियों की निगरानी के लिए पर्यवेक्षक क्षेत्रों में भेजे जाएंगे। आयोग ने सोशल मीडिया की गतिविधियों पर भी नजर रखने की बात कही है। दोनों राज्यों में आचार संहिता लागू होने के बाद सभी उम्मीदवारों को हथियार जमा कराने की बात कहते हुए आयोग ने चुनाव में प्लास्टिक का उपयोग नहीं करने पर जोर दिया है।

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Royal Bulletin
Top