Tuesday, 27 Oct, 4.39 pm समाचार नामा

होम
Bihar : प्रत्याशी रणनीति बनाने में, समर्थक मतदाताओं को रिझाने में जुटे

बिहार में विधानसभा चुनाव के प्रथम चरण में चुनाव प्रचार का शोर थम जाने के बाद राजनीतिक दलों के स्टार प्रचारक अन्य चरणों के चुनाव प्रचार में लग गए, वहीं पहले चरण के लिए चुनाव मैदान में उतरे प्रत्याशियों के समर्थक अंतिम समय में भी मतदाताओं से संपर्क कर उन्हें रिझाने में जुटे हैं।

पहले चरण के मतदान के लिए 71 विधानसभा क्षेत्रों में चुनाव प्रचार का शोर सोमवार को थम गया, लेकिन प्रत्याशी अब भी मतदाताओं को अपने पक्ष में करने के लिए कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाह रहे हैं। इन सभी विधानसभा क्षेत्रों में बुधवार को वोट डाले जाएंगे।

प्रत्याशी मतदान के दिन रणनीति बनाने में जुटे हैं। कई इलाकों में तो राजनीतिक दलों के कार्यकर्ता मतदाताओं से मिल रहे हैं।

गया विधानसभा क्षेत्र से चुनाव में किस्मत आजमा रहे मंत्री प्रेम कुमार के समर्थक मंगलवार को मतदान केंद्र स्तर तक कार्यकतार्ओं से रिपोर्ट ले रहे हैं और फोन पर ही लोगों से संपर्क करने में जुटे हैं।

इधर, अरवल में भाजपा के प्रत्याशी दीपक शर्मा के समर्थक भी लोगों के बीच पहुंच रहे हैं। दीपक शर्मा कहते हैं कि मतदान केंद्र स्तर तक भाजपा के नेतृत्व वाली राजग के कार्यकर्ता तैयारी देख रहे हैं। उन्होंने अरवल से जीत का दावा करते हुए कहा कि उनके साथ सभी जाति, संप्रदाय के लोग हैं। उन्होंने दावा किया कि अब यहां की जनता जातीय तनाव और वर्ग संघर्ष नहीं चाहती।

इधर, सुल्तानगंज के कांग्रेस प्रत्याशी और युवक कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष ललन कुमार भी अपने घर से निकले और आसपास के लोगों से मुलाकात की। इस दौरान कई युवा भी उनसे मिलने पहुंचे। इस दौरान वे युवाओं का साथ और बुजुर्गो से आशीर्वाद मांगे।

अमरपुर के लोजपा प्रत्याशी मृणाल शेखर भी अंतिम दौर में भी मतदाताओं से जुड़ने का प्रयास कर रहे हैं। शेखर के समर्थक मतदाताओं तक पहुंच रहे हैं और समर्थन की मांग कर रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि बुधवार को राज्य के 243 विधानसभा सीटों में से 71 सीटों पर मतदान होना है।

पहले चरण के चुनाव में पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के अलावा आठ मंत्री — प्रेम कुमार, कृष्णनंदन वर्मा, शैलेश कुमार, विजय कुमार सिन्हा, जय कुमार सिंह, रामनारायण मंडल, संतेाष कुमार निराला तथा बृजकिशोर बिंद सहित कई दिग्गज चुनावी मैदान में हैं।

पहले चरण में 1,066 प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला होना है। पहले चरण में दो करोड़ 14 लाख से अधिक मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। इस चरण के लिए 31,371 मतदान केंद्र बनाए गए हैं।

पहले चरण में राजद के 42 तो जदयू के 35 उम्मीदवारों के अलावे भाजपा के 29, कांग्रेस के 21, भाकपा (माले) के आठ, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) के छह और विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के एक प्रत्याशी चुनावी मैदान में हैं।

इसके अलावा लोजपा के भी 42 प्रत्याशियों का फैसला इस चरण के मतदान में तय होना है।

इस चुनावी दंगल में राजग से सीधी टक्कर विपक्षी दल के महागठबंधन से मानी जा रही है। भाजपा के नेतृत्व वाले राजग जदयू, हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा, विकासशील इंसान पार्टी शामिल हैं, जबकि केंद्र में राजग की सहयोगी लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) यहां अलग होकर चुनाव मैदान में है।

इधर, महागठबंधन में राजद, कांग्रेस और वामपंथी दल शामिल हैं।

बिहार में विधानसभा की 243 सीटों के लिए तीन चरणों में चुनाव होना है। इसके तहत प्रथम चरण के लिए 28 अक्टूबर को 71 सीटों पर, दूसरे चरण के लिए तीन नवंबर को 94 सीटों पर और तीसरे चरण के लिए सात नवंबर को 78 सीटों के लिए मतदान होगा। वहीं वोटों की गिनती 10 नवंबर को होगी।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Samacharnama
Top