Wednesday, 21 Oct, 1.11 pm समाचार नामा

होम
India Economy 2020:सबसे बुरे दौर से गुजर रही अर्थव्यवस्था, अब मोदी सरकार की त्योहारी सीजन पर निगाहें..

कोरोना काल में डूबती अर्थव्यवस्था को बचाने के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने उस रास्ते को अधूरे तरीके से अपनाया है जिसे वो लॉकडाउन के समय से नजर अंदाज करने में लगी थीं। उन्होंने त्योहारी सीजन में मांग बढ़ाने के लिए 12 अक्टूबर को सरकारी कर्मचारियों को 10 हजार रुपये ब्याज मुक्त कर्ज देने और एलटीसी का पैसा एडवांस देने को लेकर ऐलान किया है। ऐसे में क्या सरकार के इन कदमों से बाजार की मांग रफ्तार पकड़ पाएगी।

ये उपाय उसी तरह से हैं जिनकी वकालत अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी और उनकी पत्नी एस्टर डुफ्लो कर रही थी। दोनों का कहना था कि सरकार सीझे लोगों की जेब में पैसा डाले तभी अर्थव्यस्था को गति मिल सकती है। हालांकि, केवल 47 लाख केंद्रीय कर्मचारियों के भरोसे अर्थव्यवस्था में जान फूंकना इतना आसान नहीं है। इसकी वजह है लॉकडाउन के दौरान 10 करोड़ से ज्यादा लोग नौकरी गवां चुके थे और लाखों लोगों को कम वेतन पर काम करना पड़ रहा है। ऐसे में वित्त मंत्री की और से जब ऐलान किया जा रहा था तब दो आंकड़ों ने सरकार के सामने चिंता खड़ी कर दी थी।

अगस्त में औद्योगिक उत्पादन सूचकांक में आठ फीसदी गिरावट दर्ज की गई। यानी मांग न होने से फैक्ट्रियों में उत्पादन नहीं हो रहा है। खुदरा महंगाई दर भी बढ़कर 7.34 फीसदी पर पहुंच गई है। यानी रोजमर्रा की चीजें महंगी हो रही हैं। अब सरकार की त्योहारी सीजन पर ही आशा बनी हुई है। यह वो समय है जब देश में लोग खरीदारी के लिए उमड़ते हैं।

ये भी पढ़ें-
Civil War in Karachi: सफदर की गिरफ्तारी से पाकिस्‍तान में बवाल,जानें पुलिस ने सेना के खिलाफ क्यों खोला मोर्चा...
Bihar Election 2020: कांग्रेस का वादा, किसानों का कर्ज माफ, नौकरी पाने तक बेरोजगारों को हर माह देंगे 1500..

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Samacharnama
Top