Sunday, 17 Jan, 4.33 am संजीवनी टुडे

राष्ट्रीय
कोरोना संकट के बीच मंडराया बर्ड फ्लू का खतरा, मोदी सरकार ने जारी की गाइडलाइंस

नई दिल्ली। कोरोना वायरस का प्रकोप अभी देश में थमा भी नहीं है कि देश में बर्ड फ्लू का खतरा मंडरा रहा है। इसी बीच केंद्र सरकार ने घोषणा की कि देश बर्ड फ्लू के प्रकोप को प्रभावी रूप से नियंत्रित कर रहा है और राज्य सरकारों को बर्ड फ्लू से मुक्त क्षेत्रों/राज्यों से पोल्ट्री और पोल्ट्री उत्पाद बेचने की अनुमति देने का निर्देश दिया है।

जानकारी के अनुसार एक आधिकारिक विज्ञप्ति में मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्रालय ने कहा, "देश इस बीमारी को प्रभावी रूप से नियंत्रित कर रहा है। यह दोहराया गया कि वायरस 70 डिग्री के तापमान पर आसानी से नष्ट हो जाता है और इसलिए ठीक से पकाया हुआ चिकन मानव उपभोग के लिए सुरक्षित हैं।"

मंत्रालय ने राज्यों से अनुरोध किया गया है कि वे संबंधित अधिकारियों को निर्देश दें और पोल्ट्री और पोल्ट्री उत्पादों की बिक्री फ्लू-मुक्त क्षेत्रों/राज्यों से करने की अनुमति दें।

मंत्रालय ने कहा, "15 जनवरी, 2021 तक मध्य प्रदेश के बुरहानपुर, राजगढ़, डिंडोरी, छिंदवाड़ा, मंडला, हरदा, धार, सागर, और सतना जिलों (कौवे और कबूतर), उत्तराखंड (कौवे और पतंग), दिल्ली में रोहिणी और राजस्थान में जयपुर चिड़ियाघर (डक एंड ब्लैक स्टॉर्क) में जंगली पक्षियों में एवियन इन्फ्लुएंजा (एआई) की पुष्टि की गई है।

सरकार ने पुष्टि की कि वह लोगों में बर्ड फ्लू के बारे में गलत जानकारी को दूर करने और बीमारी के बारे में सामान्य जन जागरूकता के लिए अन्य कदम उठा रही है।

मंत्रालय ने राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों को भी लिखा है कि बर्ड फ्लू देश के लिए नया नहीं है, क्योंकि यह 2006 से हर साल रिपोर्ट किया गया है।

इस बीच, सरकार ने कल छत्तीसगढ़ में भी एवियन इन्फ्लूएंजा के प्रकोप की पुष्टि की, जिससे प्रभावित राज्यों की कुल संख्या 11 हो गई।

छत्तीसगढ़ के अलावा, दिल्ली, महाराष्ट्र, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, केरल, राजस्थान, मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और गुजरात में इस बीमारी की पुष्टि हुई है।

Dailyhunt
Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Dailyhunt. Publisher: Sanjeevnitoday
Top